'पिंजरे में कैद हुआ खालापार का शेर'...एसएसपी के कडे रूख के चलते नहीं कर सका था कोर्ट में सरेन्डर

पिंजरे में कैद हुआ खालापार का शेर...एसएसपी के कडे रूख के चलते नहीं कर सका था कोर्ट में सरेन्डर

मुजफ्फरनगर। एसएसपी अनन्तदेव तिवारी के कडे रूख के चलते पुलिस ने खालापार के चर्चित 'शेर' को गिरफ्तार कर आज पिंजरे में कैद कर दिया। पुलिस को एक सप्ताह से चकमा देने में जुटे खालापार बवाल के मुख्य आरोपी चर्चित हाजी शेर को आखिरकार आज शहर कोतवाली पुलिस ने रोहाना से दबोचकर सलाखों के पीछे पहुंचा ही दिया। हाजी शेर लगातार तीन दिन तक पुलिस से बचकर कोर्ट में सरेन्डर करने की जुगत में लगा रहा, लेकिन इस बार वह पुलिस को चकमा नहीं दे सका और आज उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। एसएसपी अनन्तदेव तिवारी के कुशल निर्देशन में शहर कोतवाली पुलिस ने खालापार बवाल के मुख्य आरोपी दिलशाद उर्फ हाजी शेर को आज रोहाना से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया और वहां से जेल भेज दिया। शहर कोतवाल संजीव कुमार शर्मा के नेतृत्व में रोहाना चौकी प्रभारी मनोज कुमार ने पुलिस के लिये किरकिरी का कारण बन चुके चर्चित हाजीशेर को रोहाना के बहेडी मोड से गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि मुखबिर की सूचना पर रोहाना चौकी प्रभारी मनोज कुमार को सूचना मिली थी कि चर्चित हाजीशेर रोहाना में बहेडी मोड पर एक गाडी से उतरकर दूसरी गाडी में सवार होने का प्रयास कर रहा है। सूचना पर पुलिस ने छापा मारा और हाजी शेर को दबोच लिया। ज्ञातव्य है कि विगत दिनों खालापार के मौहल्ला कस्सावान में गौकशी की सूचना पर पहुंची पुलिस पर पथराव, मारपीट व गाडी में तोडफोड करने के आरोप में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कराकर कई लोगों को नामजद और कई को अज्ञात दिखाया गया था। इस मामले में पुलिस ने दर्जनों लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, जबकि फरार चल रहे आरोपियों की तलाश में लगातार दबिश दी जा रही थी। एसएसपी अनन्तदेव तिवारी लगातार इस प्रकरण को देख रहे थे। उनके निर्देशन में एसपी सिटी ओमबीर सिंह, सीओ सिटी हरीश भदौरिया व कोतवाली प्रभारी संजीव शर्मा व एसएसआई समयपाल अत्राी ने लगातार हाजी शेर की गिरफ्तारी के लिये खालापार क्षेत्र में दबिश दी। आज इस मामले में बडी सफलता रोहाना चौकी प्रभारी मनोज कुमार के हाथ लगी। उन्होंने इस घटना के मुख्य आरोपी हाजी शेर को दबोच लिया। इस मामले में शासन से भी लगातार मॉनिटरिंग की जा रही थी। उल्लेखनीय है कि चर्चित हाजी शेर कई दिनों से कोर्ट में सरेन्डर करने का प्रयास कर रहा था, लेकिन पुलिस के कडे रूख के चलते हाजी शेर सरेन्डर नहीं कर सका। गत दिवस भी हाजी शेर व उसके पुत्र इमरान समेत चार अन्य लोगों ने कोर्ट में सरेन्डर करने के लिये अर्जी दी थी, लेकिन पुलिस की सख्ताई के चलते हाजी शेर पुत्र समेत कोर्ट में सरेन्डर नहीं कर सका, जिस कारण कोर्ट ने सरेन्डर की अर्जी खारिज कर दी थी। इसी कारण आज हाजी शेर को गिरफ्तारी देनी पडी। हाजी शेर के खिलाफ शहर कोतवाली में मुकदमा अपराध् संख्या 1176/17 धारा 147, 148, 149, 307, 323, 332, 336, 353, 427, 201, 224 आईपीसी व सीएलए एक्ट में दर्ज था। इस मुकदमे में वांछित चल रहे हाजी दिलशाद उर्फ हाजी शेर पुत्र मकसूद निवासी कुंज गली मौहल्ला खालापार को रोहाना में बहेडी रोड से शहर कोतवाल संजीव शर्मा के नेतृत्व में रोहाना चौकी प्रभारी मनोज कुमार ने गिरफ्तार किया। इसी मामले में वांछित शहीद उर्फ भूरा पहलवान निवासी तकिया वाली गली खालापार को भी एसएसआई समयपाल अत्राी ने गिरफ्तार कर जेल भेजा है। पुलिस ने खालापार में वंाछित चल रहे आरोपियों पर शिकंजा कस दिया है।

Share it
Share it
Share it
Top