32वें विशाल दंगल व रागिनी कम्पीटीशन का हुआ समापन...अंतिम दिन रागिनी कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति से बांधा समां

मुजफ्फरनगर। बुधवार को गांव पचैंडा में शहीद बचन सिंह व स्व. अरूण पहलवान अखाड़ा सेवा समिति एवं अखिल भारतीय कुश्ती महासंघ (भारत सरकार) की ओर से आयोजित किये जा रहे 32वें विशाल दंगल व रागिनी कम्पीटीशन का रंगारंग समापन हो गया। अंतिम दिन भी जनता इंटर कालेज के मैदान में भारी भीड़ नजर आयी। पहले दिन की भांति रागिनी के शौकीनों के आने के चलते आसपास के मकानों की छतों पर भी पैर रखने तक की जगह नहीं थी। कल ही की भांति आज भी रागिनी गाने आये कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति से भी को मंत्रमुग्ध कर दिया। शाम को कार्यक्रम का धूमधाम से समापन किया गया।

गांव पचैंडा में शहीद बचन सिंह व स्व. अरूण पहलवान अखाड़ा सेवा समिति एवं अखिल भारतीय कुश्ती महासंघ (भारत सरकार) की ओर से आयोजित किया जा रहा 32वां विशाल दंगल व रागिनी कम्पीटीशन आज अपने अंतिम पड़ाव पर जाकर समाप्त हो गया। आज आयोजन के चौथे और अंतिम दिन भी रागिनी का आयोजन किया गया। पहले दो दिन आयोजित किये गये दंगल में देशी सहित विदेशी पहलवानों की ओर अपने जौहर दिखाये गये। आज रागिनी में विशेष आकर्षण का केंद्र रहे सुंदर भाटी व सत्यपाल आजाद। सभी रागिनी गाने वाले कलाकारों के द्वारा अपने प्रस्तुति से पूरे मैदान सहित आसपास के घरों की छतों पर उपस्थित लोगों को कल ही की भांति मंत्रमुग्ध कर दिया। सुंदर भाटी नोएडा सहित कंचन यादव, सविता, मुस्कान त्यागी सहित सत्यपाल आजाद तेजलहेड़ा के द्वारा गायी गयी रागिनियों पर एक ओर जहां हर वर्ग, जिसमें युवा, बच्चे व बुजुर्ग शामिल थे, फिदा हुए, वहीं दूसरी ओर कई रागिनियों की पुन: श्रोताओं नेे कल ही की भांति मांग भी की। दोपहर एक बजे से प्रारंभ हुआ कार्यक्रम शाम को छह बजे तक जारी रह कर समाप्त हो गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि चेयरमैन दोघट हरेंद्र कुमार, श्रीभगवान शर्मा, बिजनौर चेयरमैन पुष्पेंद्र कुमार, शुगर मिल मंसूरपुर वीपी सिंह ने किया। इस मौके पर नकुल प्रधानपति, देवेंद प्रधान, बिजेंद्र मुखिया, तेज सिंह, नरेंद्र सिंह, बबलू सेकेटरी, युधिष्ठिर पहलवान, मांगेराम पचैंडा व डा. मोनिका व अर्जुन आदि उपस्थित रहे। सभी कलाकारों को आयोजकों की ओर से ट्रॉफी व पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया गया।

Share it
Top