15 अगस्त के मद्देनजर हाई अलर्ट जारी...स्टेशन पर राजकीय रेलवे पुलिस व आरपीएफ ने चलाया संयुक्त चैकिंग अभियान

15 अगस्त के मद्देनजर हाई अलर्ट जारी...स्टेशन पर राजकीय रेलवे पुलिस व आरपीएफ ने चलाया संयुक्त चैकिंग अभियान

मुजफ्फरनगर। 15 अगस्त का राष्ट्रीय त्योहार समीप आ गया है। जिसके चलते किसी भी प्रकार की अनहोनी से निपटने को लेकर जीआरपी (राजकीय रेलवे पुलिसद्ध व आरपीएफ) रेलवे सुरक्षा बलद्ध पूरी तरह से तैयार हैं। 15 अगस्त को देखते हुए दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून रेलवे मार्ग पर आतंकी हमले की आशंका के चलते रेलवे विभाग पूरी तरह से सतर्क है। इसके साथ ही अधिकारियों ने रेलवे ट्रैक, स्टेशन परिसर व ट्रेनों की सुरक्षा चाकचौबंद करने को लेकर अपनी योजना को अमलीजामा भी पहनाना प्रारंभ कर दिया है। यह सब खुपिफया विभाग की ओर से जारी इनपुट के चलते किया गया है। सूत्रों के अनुसार खुफिया विभाग द्वारा सूचना दी गयी है कि 15 अगस्त के दौरान ट्रेनों मंे चलने वाली भारी भीड़ को देखते हुए आतंकी ट्रेनों सहित रेलवे ट्रैक को अपना निशाना बना सकते हैं। इसी परिपेक्ष्य में स्थानीय जीआरपी व आरपीएफ ने रविवार को स्टेशन परिसर, रेलवे ट्रैक, आने-जाने वाली सभी ट्रेनों सहित पूरे स्टेशन परिसर को बारिकी से छाना। जिसके चलते रेलवे स्टेशन पर अफरा-तफरा का माहौल रहा।

15 अगस्त का राष्ट्रीय पर्व समीप है। जिसके चलते जिला प्रशासन, पुलिस सहित खुफिया विभाग आदि सभी अलर्ट मोड पर आ गये हैं। किसी प्रकार की अनहोनी को टालने के लिए जिले भर में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किये गये हैं। इसी कड़ी में रविवार को जीआरपी व आरपीएफ भी पूरी तरह से सतर्क नजर आये। इसके बाद ट्रेनों व रेलवे ट्रैक को लेकर सुरक्षा व्यवस्था को कड़ा कर दिया गया था। हर साल की भांति इस साल भी 15 अगस्त को लेकर सुरक्षा एजेंसियों के द्वारा किसी प्रकार की ढिलाई नहीं बरती जा रही है। सूत्रों के अनुसार खुफिया विभाग की ओर से यह कहा गया कि असामाजिक तत्व किसी भी सार्वजनिक स्थान के अपना निशाना बना सकते हैं। इसके बाद से ही रेलवे अधिकारियों सहित सुरक्षा मंे लगी जीआरपी व आरपीएफ अधिकारियों की भी नींद उड़ गयी है। मिले इनपुटों में दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून मार्ग को निशाना बनाने की बात की गयी है। वहीं रेलवे सूत्रों का कहना था कि शीघ्र ही यात्रियों की सुविधा को देखते हुए ट्रेनों में सुरक्षा कड़ी की जाएगी। खुफिया विभाग का कहना था कि ट्रेनों में चलने वाली भारी भीड़ को देखते हुए आतंकी किसी अप्रिय घटना को अंजाम दे सकते हैं। इसी को चलते रेलवे विभाग द्वारा ट्रेनों की सुरक्षा सहित रेलवे ट्रैक की सुरक्षा चाकचौबंद करने को लेकर एक प्लान तैयार किया गया है। जिसमें प्रतिदिन स्टेशन परिसर सहित आने जाने वाली सभी ट्रेनांे व ट्रैक तथा यात्रियांे तलाशी सहित सुरक्षा की जाएगी। इसके साथ ही स्थानीय निजी खुफिया विभाग को भी मुस्तैद किया जाएगा।

मिले खुपिफया विभाग के इनपुट पर रविवार को जीआरपी (राजकीय रेलवे पुलिस) व आरपीएपफ (रेलवे सुरक्षा बल) की संयुक्त टीम ट्रैक पर उतर गयी। पूरे स्टेशन परिसर, यात्रियों, उनके सामनों, हर आने-जाने वाली ट्रेनों, प्रतीक्षालय, पूछताछ कंेंद्र, तीनों प्लेटफार्म की तलाशी ली गयी, साथ ही ट्रैक का गहनता से निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जो भी संदिग्ध मिला, उससे गहनता से पूछताछ की गयी। जीआरपी टीम का नेतृत्व एसआई हरिओम शर्मा ने किया तथा आरपीएफ की टीम का नेतृत्व एसआई गयादत्त तिवारी द्वारा किया गया। दोनों ही सुरक्षा टीमों का नेतृत्व कर रहे दोनों अधिकारियों का कहना था कि सतर्कता को लेकर यात्रियों से भी सहयोग की अपील की गयी है कि वह यात्रा करते समय सतर्कता बरतें। यदि किसी प्रकार की संदिग्ध वस्तु या व्यक्ति मिले, तो उसकी सूचना तुरंत ट्रेन मंे उपस्थित टिकट निरीक्षक, गार्ड, सुरक्षा में तैनात आरपीएफ व जीआरपी के सिपाही-दारोगा आदि को दें, यदि स्टेशन परिसर में हैं, तो दोनों थानों के प्रभारियों सहित किसी भी सिपाही को दे सकते हैं। यात्रियों का सहयोग इस समय कापफी मददगार साबित हो सकता है। चैकिंग के दौरान आरपीएफ की ओर से हैड कांस्टेबिल सतवीर सिंह व जीआरपी की ओर से सचिन तेवतिया, सुभाष, मनीष पंवार व नाहर सिंह आदि शामिल रहे।

Share it
Top