जानसठ पुलिस ने किया वाहन चोर/ठग गिरोह का पर्दाफाश, 9 गाडी बरामद .... लोगों को झांसे में लेकर गाडी के फर्जी कागज बनाकर बेचते थे सभी आरोपी

मुजफ्फरनगर। जानसठ पुलिस ने आज एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है, जो गाडिय़ों को चोरी करके और ठगी करके फर्जी कागजात बनवाकर बेच देता था। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से नौ गाडिय़ां बरामद की है। एसएसपी ने पुलिस टीम को दस हजार के पुरूस्कार की घोषणा की। पुलिस लाईन में पत्रकारों को जानकारी देते हुए एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि जानसठ सीओ धनजय सिंह कुशवाहा व कोतवाली प्रभारी योगेश शर्मा ने पुलिसटीम के साथ मुखबिर खास की सूचना पर गंगनहर पटरी चितौड़ा झाल के पास दो अन्तर्राज्जीय वाहन चोर/ठग गिरफ्तार किये है। पूछताछ में दोनों ने अपने नाम शावेज जैदी पुत्र अजादार जैदी निवासी मौहल्ला चमारान खादरवाला शहर कोतवाली व अफसर अली पुत्र इनाम अली निवासी जारचा, गौतमबुद्धनगर बताया है। उनके कब्जे से चोरी की दो गाडिय़ां महिंद्रा टीयूवी 300 नम्बर यूपी-12एजेड 2941 व मारूति स्विफ्ट डिजायर नम्बर डीएल3सीबीएस 8226 भी मौके से बरामद की। पूछताछ में उन्होंने अपने अन्य दो साथियों रविन्द्र सेठी पुत्र मनजीत सिंह निवासी शास्त्रीनगर थाना नौचंदी जिला मेरठ व अबरार पुत्र मोबिन निवासी जाकिर कॉलोनी थाना लिसाढी गेट जनपद मेरठ के बारे मेें बताया, जो फरार चल रहे हैं। उनकी निशानदेही पर चोरी की सात गाडिय़ा भी बरामद की गयी। एसएसपी ने बताया कि उक्त अभियुक्त मुजफ्फरनगर व आसपास के क्षेत्रों के लोगों को झांसे मेें लेकर उनकी गाडिय़ां दिल्ली, नोएडा में कम्पनियों में लगाने के नाम पर ले जाते थे और बाद में उन गाडिय़ों को चोरी से अच्छे मुनाफे में अपने साथी रविन्द्र सेठी व अबरार की मद्द से फर्जी कागज बनवाकर अच्छे दामों में बेच देते थे। कुछ लोगों के इनके झांसे में न आने पर ये लोग उनकी गाडिय़ों को बिना उनकी मर्जी के चुपचाप से चोरी करके ले जाकर भी उनको अच्छे दामों में बेच दिया करते थे। अभियुक्तों के खिलाफ थाना जानसठ व शाहपुर समेत कई थानों में चोरी व धोखाधड़ी के मुकदमें दर्ज है। इस घटना का खुलासा करने वाली टीम में एसपी देहात नेपाल सिंह, सीओ जानसठ, धनजय सिंह कुशवाहा, जानसठ कोतवाली प्रभारी योगेश शर्मा, एसआई राजकुमार शर्मा, एसआई चंद्रसेन सैनी, एसआई मुरलीध्र शर्मा व पुलिस टीम शामिल रही।

Share it
Top