गर्भवती महिला उमा पाल हत्याकांड में फरार आरोपियों की नहीं हुई गिरफ्तारी...कूकडा ब्लॉक परिसर में विगत 9 मई को कर दी गयी थी हत्या

गर्भवती महिला उमा पाल हत्याकांड में फरार आरोपियों की नहीं हुई गिरफ्तारी...कूकडा ब्लॉक परिसर में विगत 9 मई को कर दी गयी थी हत्या

मुजफ्फरनगर। नई मण्डी थाना क्षेत्र के कूकड़ा ब्लॉक परिसर में विगत दिनों आठ माह की गर्भवती महिला की फांसी लगाकर हत्या कर दी गयी थी, जिसमें नई मण्डी थाना पुलिस ने दो आरोपियों के खिलाफ अभी तक भी कोई कार्यवाही नहीं की है। पुलिस की इस कार्यप्रणाली से पीडि़त पक्ष में रोष व्याप्त है। बताया जा रहा है कि आरोपी इस मामले में समझौता करने का दबाव बना रहे हैं और समझौता न करने पर जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि दोनों आरोपियों की पुलिस ने तत्काल गिरफ्तारी नहीं की, तो सोमवार को एसएसपी ऑफिस पर प्रदर्शन कर धरना दिया जायेगा। पीडि़त पक्ष ने आरोप लगाया कि कुछ राजनीतिक नेताओं के दबाव में पुलिस आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही नहीं कर रही है। ज्ञातव्य है कि मेरठ जनपद के कस्बा पाबली खास निवासी उमा पाल की शादी जिला चिकित्सालय के मलेरिया विभाग में वार्ड ब्वाय के पद तैनात विवेक पाल के साथ 6 जुलाई 2018 को हुई थी। वर्तमान में वह अपने पति विवेक के साथ कूकड़ा ब्लॉक परिसर स्थित सरकारी आवास में रह रही थी। उमा फिलहाल आठ माह की गर्भवती थी। विगत 9 मई को अतिरक्ति दहेज की मांग को लेकर उमा पाल की पफांसी लगाकर हत्या कर दी गयी थी। उसका पति विवेक व अन्य परिजन उसे मरी हुई अवस्था में जिला चिकित्सालय लेकर पहुंचे और चिकित्सकों ने उसे मृत बताया, तो शव को वहीं छोडकर भाग गये। सूचना मिलने पर पुलिस ने शव को मोर्चरी में रखवा दिया था। बाद में पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया था। मृतका के परिजनों ने उसके शव को अपने गांव पाबली खास ले जाकर अंतिम संस्कार कर दिया था। इस मामले में मृतका उमा पाल के भाई गौतम पाल की तहरीर पर नई मण्डी पुलिस ने मृतका के पति विवेक पाल, देवर मनीष पाल, सास सुशीला देवी, अमित पाल (मामा), सुशील पाल, अनिल पाल व रविन्द्र हलवाई रिश्तेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने धारा 304बी, 313, 498ए, 511 व दहेज प्रतिबंध अधिनियम 3 व 4 में मामला दर्ज किया था। इस मामले में पुलिस ने मृतका के पति विवेक पाल व उसकी मां सुशीला देवी को गिरफ्तार जेल भेज दिया था, जबकि शेष आरोपी अभी भी पफरार चल रहे है। मृतका के परिजनों ने चेतावनी दी है कि यदि सोमवार तक आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल नहीं भेजा गया, तो एसएसपी कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जायेगा।

Share it
Top