मुजफ्फरनगर: 80 हजार की आरसी ने उड़ाए गरीब के होश...12 साल पहले लिये कर्ज की आरसी लेकर पहुंचा अमीन

मुजफ्फरनगर: 80 हजार की आरसी ने उड़ाए गरीब के होश...12 साल पहले लिये कर्ज की आरसी लेकर पहुंचा अमीन

मुजफ्फरनगर। 12 साल पहले गुरबत में सरकारी योजना के तहत लिये गये तीस हजार रुपये के मामूली कर्ज विभाग पहले तो वसूलने में नाकाम रहा, अब गरीब के घर 80 हजार रुपये की आरसी भिजवा दी गयी। जिसने गरीब की नींद उड़ा दी।
राष्ट्रीय किसान मजदूर पार्टी के जिलाध्यक्ष सुमित मलिक ने इस मामले में विभागीय लापरवाही को जिम्मेदारी बताते हुए जांच की मांग की है।
उन्होंने बताया कि अलमासपुर निवासी श्रीमती राकेश पत्नी यशपाल सिंह ने उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम से मार्च 2005 में 30 हजार रुपये का कर्ज लिया था। राकेश ने पहले किश्त के रूप में मार्च में ही तीन हजार रुपये जमा किये और दूसरी किश्त के रूप में 1200 रुपये 24 मई 2005 में जमा कर दिये गये। राकेश ने बताया कि जब वह तीसरी किश्त जमा करने पहुंची, तो विभाग के कर्मचारियों ने उसे जमा करने से इंकार करते हुए बताया कि सरकार ने गरीबों का कर्ज माफ कर दिया है।
अब दो सितम्बर 2017 को तहसील से अमीन 80 हजार रुपये की आरसी लेकर राकेश के घर पहुंचा, तो परिवार सकते में आ गया। तीस हजार रुपये के कर्ज के बदले सरकार अब 80 हजार रुपये वसूल करने जा रही है। राकेश ने इस मामले की जानकारी करने के लिए विभागीय कर्मचारियों से मुलाकात की, तो उन्होंने कोई जानकारी देने से इंकार कर दिया। राकेश का कहना है कि कर्मचारियों ने खुद ही मामले को रफा-दफा करने की बात कही है। नोटिस से परिवार की नींद उड़ी है। राकेश का कहना है कि उसका परिवार गरीब है और इतनी रकम चुका पाने में असमर्थ है। सुमित मलिक ने कहा कि इस प्रकरण में विभागीय कर्मचारियों की जांच की जानी आवश्यक है।
इसी मांग को लेकर राकेश सोमवार को कलेक्ट्रेट पहुंची सुमित मलिक के नेतृत्व में और इस मामले में उचित कार्यवाही की माग की। उनके साथ अंकुर शर्मा, यशपाल सिंह, अरविंद, रवि तोमर, रविकांत, शुभम, तनुज ठाकुर, रविकांत, सचिन, पारूल आदि रहे।

Share it
Top