रूडकली जानलेवा हमला मामले में 8 आरोपियों को सात-सात वर्ष की सजा

रूडकली जानलेवा हमला मामले में 8 आरोपियों को सात-सात वर्ष की सजा

मुजफ्फरनगर। थाना भोपा क्षेत्रा के गांव रूड़कली में विवादित जमीन को लेकर जानलेवा हमले के मामले में कोर्ट ने आज आठ आरोपियों को सात-सात वर्ष की सजा सुनाते हुए चार-चार हजार रुपये का जुर्माना किया है, जबकि दोषी ठहराए गये एक आरोपी की सजा पर बाद में निर्णय किया जायेगा, उसको बचाओ पक्ष ने नाबालिग घोषित किये जाने की अर्जी दी है। एडीजे-15 राजेश भारद्वाज ने एक दिन पहले सभी 9 लोगों को दोषी ठहराया था, लेकिन आरोपी अमजद को सजा नहीं सुनाई गई। बचाव पक्ष के वकील नासिर अली ने अपनी बहस में एक आरोपी को नाबालिग बताते हुए उसे बरी करने की अपील की, जिस पर कोर्ट ने मामला सुरक्षित रख लिया। ज्ञातव्य है कि भोपा क्षेत्रा के गांव रूडकली में 23 मार्च 2009 को मस्जिद की एक दीवार को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गयी थी, जिसमें रिपोर्टकर्ता अब्दुल ने एफआईआर दर्ज कराते हुए जाफर, वसीम, अयूब, सयाद, राशिद, अरशद, शकील, जालू व अमजद को आरोपी बनाया था। इस घटना में एक पक्ष के महताब, शमशाद, परवेज, जावेद, हाशिम को चोटे आयी थी। मामले की रिपोर्ट धारा 323, 324 और 307 में दर्ज की गयी थी, लेकिन पहले धरा 323 व 324 में रिमाण्ड हुआ पिफर बाद में धरा 307 भी बढाई गई थी। एडीजीसी कयूम ने इस मामले में 9 गवाह पेश किये और मुल्जिमों को सजा दिलाने की न्यायालय से मांग की, जबकि बचाव पक्ष ने सभी आरोपियों को निर्दोष बताया। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेश भारद्वाज कोर्ट नम्बर 15 ने आठ आरोपियों को हत्या के प्रयास में सात-सात साल की सजा सुनाई है।

Share it
Top