मुजफ्फरनगर जिले में 63.08 फीसदी वोटिंग...कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शहर नगरपालिका के लिये पड़े 55.8 प्रतिशत वोट

मुजफ्फरनगर जिले में 63.08 फीसदी वोटिंग...कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शहर नगरपालिका के लिये पड़े 55.8 प्रतिशत वोट

मुजफ्फरनगर। नगर निकाय के दूसरे चरण में जनपद मुजफ्फरनगर की दो नगरपालिकाओं व आठ नगर पंचायतों के लिये आज छिटपुट घटनाओं को छोडकर शांतिपूर्ण तरीके से मतदान सम्पन्न हो गया। कई जगह वोटिंग लिस्ट में नाम न मिलने व प्रत्याशी द्वारा अभद्र व्यवहार करने पर बूथों पर हंगामा भी हुआ, लेकिन पुलिस ने लाठियां फटकारकर मामला शांत कर दिया। मुजफ्फरनगर जनपद में कुल मिलाकर 63.8 प्रतिशत मतदान हुआ, जबकि शहर नगरपालिका में 55.8 फीसदी वोट पडे। शहर में कुल 1 लाख 45 हजार 41 मतदाताओं ने अपने मतदाधिकार का प्रयोग किया। मतदान शांतिपूर्ण सम्पन्न होने से जिला प्रशासन ने राहत की सांस ली, वहीं प्रत्याशियों ने हार-जीत के आंकडे लगाने शुरू कर दिये।
मुजफ्फरनगर जनपद की दो नगरपालिकाओं व आठ नगर पंचायत के लिये कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच आज सुबह साढे सात बजे से मतदान प्रारम्भ हुआ। जिला प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम बूथों पर कर रखे थे। पुलिस व पीएसी के साथ ही अद्र्धसैनिक बलों की भी बूथों पर तैनाती रही। राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से जिले में भेजे गये पर्यवेक्षक देवाशीष पांडा, मंडलायुक्त, सहारनपुर रेंज के डीआईजी के साथ ही जिलाधिकारी गोरीशंकर प्रियदर्शी, एसएसपी अनंतदेव तिवारी लगातार बूथों का भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहे। शहर कोतवाली क्षेत्र के अन्तर्गत मौहल्ला लद्दावाला व रामपुरी में बूथों पर हल्की झडप भी हुई। इसके अलावा रामपुरम् में भरी एक बूथ पर प्रत्याशी आपस में भिड पडे, लेकिन वहां तैनात छपार थानाध्यक्ष आदेश त्यागी ने उनको वहां से हटा दिया। जाट कालोनी में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में अपनी पत्नी को चुनाव लडा रहे वीरेन्द्र मुन्ना की भी दूसरे प्रत्याशी से कहासुनी हो गई, जिस पर पुलिस ने उसे जमकर हडकाया। सूचना मिलने पर पूर्व सांसद हरेन्द्र मलिक समेत उनके काफी समर्थक भी वहां पहुंच गये। इसी प्रकार मौहल्ला अबुपूरा में बूथ पर काफी देर तक हंगामा होता रहा। कई जगह फर्जी मतदान को लेकर भी हंगामे की स्थिति बनी रही। सुबह से मतदान शुरू होने पर हिन्दू बाहूल्य क्षेत्रों में लगभग ग्यारह बजे तक बूथों पर इक्का-दुक्का वोटर ही दिखाई दिये और बूथ खाली पडे रहे, इसके बाद लोग वोट डालने के लिये घरों से निकले, जबकि मुस्लिम बाहूल्य क्षेत्रों खालापार, लद्दावाला व मल्हूपुरा में सुबह के समय बूथों पर काफी भीड रही, लेकिन दोपहर बाद बूथ सुनसान दिखाई दिये। इस दौरान पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी भी लगातार बूथों पर भ्रमण करते रहे और कडी सुरक्षा के बीच मतदान सम्पन्न कराया। शाम पांच बजे मतदान पूर्ण होने पर कडी सुरक्षा में मतपेटियों को स्ट्रांग रूम में ले जाकर जमा कराया गया। मतदान शांतिपूर्ण सम्पन्न होने के पश्चात पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली, जबकि प्रत्याशी अपनी हार-जीत का गणित लगाने में जुटे रहे।

Share it
Top