मुजफ्फरनगर में एक लाख के ईनामी रुचिन जाट ने वकील की ड्रेस में किया कोर्ट में सरेंडर

मुजफ्फरनगर में एक लाख के ईनामी रुचिन जाट ने वकील की ड्रेस में किया कोर्ट में सरेंडर

मुजफ्फरनगर। छपार क्षेत्रा के गांव दतियाना में चार वर्ष पूर्व हुई एक हत्या के मामले में वांछित चल रहे एक लाख के इनामी बदमाश रूचिन ने आज कोर्ट में सरेन्डर कर दिया। पुलिस की नजरों से बचने के लिये वह वकील के काले कोट में कोर्ट में पहुंचा। सीजेएम ने उसे जेल भेज दिया है। जानकारी के अनुसार छपार थाना क्षेत्र के गांव दतियाना में 26 सितम्बर 2013 को करन सिंह की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में छपार पुलिस ने कुख्यात रूचिन को चिन्हित कर उसके फरार रहने के कारण चार्जशीट में दाखिल कर दी थी। आज उसने पुलिस को चकमा देकर कोर्ट में सरेन्डर कर दिया। अब पुलिस उसके विरूद्ध कई और मामलों में वारंट तामिल कराने की तैयारी कर रही है। बताया जा रहा है कि रूचिन ने कोर्ट में सरेन्डर करने के लिये वकील का काला कोट पहन रखा था और कोर्ट रूम से बाहर ही वकील वाला काला कोट उतारकर अपने एक साथी को दे दिया। सीजेएम गोपाल तिवारी ने उसका हत्या का मामला भी आज सेसन्स कर दिया और आदेश दिया कि वह 25 नवम्बर को कोर्ट में पेश हो हो। ज्ञातव्य है कि रूचिन पर 50-50 हजार रूपये के दो इनाम घोषित है। जिला जेल के बाहर हुई जेल आरक्षी चुन्नीलाल की हत्या व मंसूरपुर में सिपाही की हत्या में भी वह शामिल रहा। उसके खिलाफ मुजफ्फरनगर व गाजियाबाद पुलिस ने 50-50 हजार रूपये के इनाम घोषित कर रखे है। एके 47 व पिस्टल से हमला किया गया था। इस घटना में यूपी पुलिस के कांस्टेबिल नरेंन्द्र सिंह की भी गोलियां लगने से मौत हो गई थी। रूचिन ने इस घटना के बाद मुजफ्फरनगर जेल के बंदीरक्षक चुन्नीलाल की जेल के पास ही नईमंडी थाना क्षेत्र में गोली मार कर हत्या कर दी थी। बताया जा रहा है कि रूचिन रेसलर था, लेकिन गांव की रंजिश के चलते अपराध की दुनिया में आ गया। शार्प शूटर रूचिन को रेसलिंग करने का शौक था, लेकिन गांव दतियाना के प्रधन करण सिंह से रंजिश के कारण वह अपराध की दुनिया में आ गया। उसने अपने पिता के साथ मिलकर प्रधान की हत्या कर दी, जिसके बाद से वह रेसलिंग मंे दांवपेंच के खेलों को छोड़कर रंजिश के कारण हाथों मंे पिस्टल थाम कर ताबडतोड़ हत्याएं करने लगा ओर विक्की त्यागी गैंग में शामिल हो गया।

Share it
Top