मुजफ्फरनगर में पुलिस मुठभेड़ में 50 हजारी का ईनामी बदमाश नितिन मारा गया,सोनू नागर गोली लगने के बाद फरार

मुजफ्फरनगर। पुलिस ने आज मीरापुर क्षेत्र में मुठभेड़ के दौरान 5० हजार रुपये का इनामी बदमाश मार गिराया, जबकि एक घायल बदमाश फरार हो गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंतदेव तिवारी ने यहां बताया कि मीरापुर क्षेत्र में नंगला खेपड़ गांव के जंगल में पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में 5० हजार रुपये का इनामी बदमाश मारा गया, जबकि उसका एक साथी घायल अवस्था में फरार हो गया। मृतक बदमाश की शिनाख्त बुलन्दशहर जिले के अगौता इलाके के पवसरा निवासी 5० हजार के इनामी बदमाश नितिन के रुप में की गई। नितिन के खिलाफ बुलन्दशहर, हापुड़, शामली, खतौली आदि थानोंं में 14 संगीन मामले दर्ज हैं। मारे गए बदमाश के पास से एक विदेशी पिस्टल, एक तमंचा और कुछ कारतूस तथा बगैर नम्बर की मोटरसाइकिल मिली है। उन्होंने बताया कि मारा गया बदमाश नितिन आठ मामलों में वांछित चल रहा था। करीब 15 दिन पहले लेन-देन तथा प्रधानी की रंजिश में एक दोहरे हत्याकाण्ड को अंजाम दिया था। उन्होंने बताया कि इस बदमाश की गिरफ्तारी पर 5० हजार का इनाम घोषित था। श्री तिवारी ने बताया कि सुबह करीब पांच बजे मीरापुर क्षेत्र के नंगला खेपड़ निवासी श्यामवीर ने सूचना दी कि कुछ बदमाश उसके खेत में हैं, जो उनकी हत्या कर सकते हैं, क्योंकि वर्ष 2०15 में उसके भाई की हत्या हो चुकी है और इसी साल 26 जनवरी को उसके पिता शोभाराम की भी रंजिश के चलते हत्या कर दी गई थी। सूचना के बाद जानसठ के पुलिस उपाधीक्षक एस.के.एस. प्रताप ने तत्काल एस.ओ.जी. टीम और मीरापुर पुलिस को नंगला खेपड़ पहुंचने के निर्देश दिए। इस मुठभेड़ में पुलिस निरीक्षक मनोज बालियान, आरक्षी कुलवन्त घायल हो गए और उपनिरीक्षक पवन शर्मा तथा सिपाही दीपक के सीने पर गोली लगी, लेकिन बुलेट प्रुफ जैकेट पहनने की वजह से उनकी जान बच गई। पुलिस फरार घायल की तलाश कर रही है। इस बदमाश के मारे जाने के बाद ग्रामीणों ने एसएसपी अनंत देव तिवारी,सीओ जानसठ एस..के.एस.प्रताप को कंधे पर उठाकर जुलुस निकाला


Share it
Top