मुजफ्फरनगर: आंखों ही आंखों में कटेगी प्रत्याशियों की रैना...435 प्रत्शाशियों की बढ़ी दिलों की धड़कनें, समर्थकों में भी बढ़ने लगी है बेचैनी, बढ़ा रहे प्रत्याशियों का हौंसला

मुजफ्फरनगर: आंखों ही आंखों में कटेगी प्रत्याशियों की रैना...435 प्रत्शाशियों की बढ़ी दिलों की धड़कनें, समर्थकों में भी बढ़ने लगी है बेचैनी, बढ़ा रहे प्रत्याशियों का हौंसला

मुजफ्फरनगर। लो भई! आखिरकार राम-राम भजते हुए वह दिन आ ही गया, जिसका कि एक माह से बड़ी बेसब्री से इंतजार किया जा रहा था। कल (आज) की यह 26 नवंबर की जादुई तिथि इस बात को सिद्ध कर देगी कि वह विरले एक चेयरमैन व 50 सभासद कौन होंगे, जो कि शीघ्र ही नगरपालिका परिषद, मुजफ्फरनगर की जमीं पर बतौर चेयरमैन व सभासद कदम रखेंगे। मतदान रूपी परीक्षा में अब कुछ ही घंटे शेष रह गये हैं।
परीक्षा तो परीक्षा होती है, फिर चाहे वह चुनावी परीक्षा हो, सीबीएसई की परीक्षा हो या यूपी बोर्ड की हाईस्कूल तथा इंटरमीडिएट की परीक्षाएं हो। सभी को परीक्षाओं के परिणाम की चाह रहती है। 26 नवंबर को नगर पालिका परिषद, मुजफ्फरनगर के चेयरमैन/सभासद पद के कुल 435 प्रत्याशियों की परीक्षा का दिन है। इस परीक्षा का परिणाम शीघ्र ही एक सप्ताह बाद यानि की एक दिसंबर को आएगा। इसमें कौन पास होता है, कौन फेल, यह तो समय व एक दिसंबर की तिथि ही बता पाएगी। परीक्षा व उसके परिणाम को लेकर राजनीति के यह छात्र-छात्राएं रूपी प्रत्याशी आने वाले परिणाम को लेकर बेहद ही चिंतित नजर आ रहे हैं। जिसको लेकर शनिवार की रात्रि में इनकी आंखों में नींद के स्थान पर चिंतन व घबराहट रहेगी। राजनीति के ये 435 छात्र-छात्राएं परीक्षा (मतदान) को लेकर सारी रात्रि आंखों ही आंखों में काटेंगे।
जब बात परिणाम की आती है, तो बेचैनी तथा चिंतित होना स्वाभाविक है। अच्छे से अच्छा व्यक्ति भी एक बार को तो बेचैन तथा चिंतित हो ही जाता है। एक सप्ताह का कार्यकाल और वह भी परिणाम की प्रतीक्षा मे कम नहीं होता है। एक ओर परिणाम को लेकर सभी प्रत्याशियों के चेहरों पर बेचैनी सहित हवाइयां उड़ रही हैं।
वहीं दूसरी ओर इनके समर्थक भी कम परेशान नहीं हैं। उन्हें यह भय सता रहा है कि कहीं यदि उनके नेता चुनावी परीक्षा में असफल हो गये, तो इसका गुस्सा उनके उपर ही उतरेगा। वह अपने प्रत्याशी को जीतने का आश्वासन देकर उनकी हौंसला अफजाई कर रहे हैं।

Share it
Top