रचना सैनी बनी सहायक अभियोजन अधिकारी...सहायक अभियोजन अधिकारी की परीक्षा में पाया 313वां स्थान

रचना सैनी बनी सहायक अभियोजन अधिकारी...सहायक अभियोजन अधिकारी की परीक्षा में पाया 313वां स्थान

मुजफ्फरनगर। कहते हैं कि पूत के पांव पालने में ही नजर आ जाते हैं। अर्थात बच्चे की प्रतिभा उसके शिशुकाल में ही मां-बाप को नजर आ जाती है। इस बात को सिद्ध कर दिखाया है अंकित विहार निवासी एक अधिवक्ता की बेटी ने। उसने अपनी कड़ी अथक मेहनत के दम पर वह मुकाम हासिल किया। जिसको पाने में अच्छे-अच्छे को कई वर्ष लग जाते हैं। अधिवक्ता की बेटी ने सहायक अभियोजन अधिकारी का पद हासिल किया। अपनी कामयाबी का श्रेय वह आपने माता-पिता सहित अपने गुरूजनों के आशीर्वाद को देती हैं। आठ सितंबर 2017 की तारीख अंकित विहार निवासी प्रसिद्ध अधिवक्ता सुखपाल सैनी के घर पर वह खुशियां लेकर आयी, जिसकी कि उनका परिवार कापफी समय से प्रतीक्षा कर रहा था। इस तारीख को उनकी पुत्राी रचना सैनी के द्वारा दी गयी सहायक अभियोजन अधिकारी की परीक्षा 2015 का परिणाम घोषित हुआ। जिसमें रचना ने 313वां स्थान प्राप्त कर अपना, अपने माता-पिता सहित गुरूजनों का नाम रोशन किया। परिणाम की खबर पाकर परिवार में जश्न का माहौल नजर आ गया। परिवार को आस-पडौस सहित रिश्तेदारों से बधाइयों के संदेश आने लगे। पिता सुखपाल सैनी का कहना था कि रचना अपनी पढ़ाई को लेकर पहले से ही गंभीर रही। उसने अपनी हाईस्कूल की पढ़ाई एसएसके गांधी कालोनी से, इंटर वैदिक पुत्राी इंटर कालेज नई मंडी से, बीए एसडी डिग्री कालेज से की। एलएलबी डीएवी इंटर कालेज से, एलएलएम चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी मेरठ से की। इसके साथ ही एनईटी के अलावा पीएचडी लखनउ यूनिवर्सिटी से की। रचना ने अपनी सपफलता को लेकर कहा कि उसकी सफलता के पीछे उसके परिवार सहित गुरू प्रदीप मलिक जिला जज बिहार सहित अन्य गुरूजनों का बड़ा योगदान व उनका आशीर्वाद है। सहायक अभियोजन अधिकारी के पद पर चयन होने पर शनिवार को भी बधाइयों व मिठाई खिलाने का दौर जारी रहा। रचना सैनी तीन भाई-बहनों में दूसरे नंबर पर है। छोटा भाई एक कंपनी मंे मैनेजर के पद पर आसीन है। बड़ी बहन दिल्ली में है।

Share it
Top