पीएम की पत्नी ने किया आंदोलनकारी को सम्मानित ... भ्रष्टाचार के विरूद्ध 24 वर्षों से लड रहे आंदोलनकारी को सम्मानित कर की सराहना

पीएम की पत्नी ने किया आंदोलनकारी को सम्मानित ... भ्रष्टाचार के विरूद्ध  24 वर्षों से लड रहे आंदोलनकारी को सम्मानित कर की सराहना

मुजफ्फरनगर। पिछले 24 साल से भ्रष्टाचार को लेकरे भूमाफिया के विरुद्ध धरने पर बैठे मास्टर विजय सिंह को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की धर्मपत्नी जशोदाबेन ने उनकी भ्रष्टाचार विरोधी लड़ाई को लेकर सम्मानित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी जशोदाबेन धार्मिक यात्रा पर हरिद्वार व धार्मिक नगरी शुक्रताल से होती हुई मुजफ्फरनगर शहर पहुंची। देर रात्रि वे मुजफ्फरनगर शहर में भी एक धार्मिक प्रोग्राम में सम्मिलित हुई, जहां उनका भव्य स्वागत किया गया। अपने मुजफ्फरनगर भ्रमण के दौरान उन्होंने मुजफ्फरनगर के सामाजिक लोगों के कार्य के बारे में शुक्रताल के संतों से जानकारी भी ली। जब उन्हें मास्टर विजय सिंह के भ्रष्टाचार विरोधी 24 साल पुराने दुनिया के सबसे लम्बे गांधीवादी आंदोलन/धरने के बारे में बताया गया, तो उन्होंने मास्टर विजय सिंह को शिवचौक धरना स्थल से कार्यक्रम में बुलवा कर उनके भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन की प्रशंसा की तथा उन्हें सम्मानित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार देश में बहुत बुरी बीमारी है, जिसे मूल रूप से खत्म किया जाना अति आवश्यक है। मास्टर विजय सिंह 24 साल से अहिंसात्मक ढंग से लड़ रहे हैं। यह बड़ी बात है, यह सम्मान योग्य है। गौरतलब है मास्टर विजय सिंह भ्रष्टाचार में भू-माफियाओं के खिलापफ 24 साल से अहिंसात्मक ढंग से आंदोलन चला रहे हैं। गत दिनों जिलाधिकारी मुजफ्फरनगर ने उनका धरना कचहरी से पुलिस बल बुलवाकर जबरदस्ती हटवा दिया था तथा उनके ऊपर अंडरवियर सुखाने को लेकर धारा 509 के अंतर्गत महिला लज्जा भंग का मुकदमा भी कायम कराया था। कचहरी से हटने के बाद मास्टर विजय सिंह शिवचौक पर पर धरने पर बैठ गए थे। तभी से उनका धरना शिवचौक पर ही निरन्तर चल रहा है। जिलाधिकारी की कार्रवाई को केंद्रीय मंत्री डाक्टर संजीव बालियान, राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल, पूर्व विधायक सुरेश संगल व भाकियू नेता राकेश टिकैत तथा सभी राजनीतिक दलों ने व सामाजिक संगठनों ने गलत बताकर उनके रवैये की आलोचना की थी तथा उनके ऊपर लगे मुकदमे को भी निरस्त कराया। मास्टर विजय सिंह की मांग है कि उनके गांव की 4 हजार बीघे तथा दोनों जिलों मुजफ्फरनगर व शामली की लगभग 6 लाख बीघा जमीन को अवैध कब्जे से मुक्त करा कर सार्वजनिक प्रयोग में लाने या गरीबों में बांटने की कार्यवाही की जाये। ज्ञात हो कि कई सौ बीघे भूमि उनके आंदोलन के कारण मुक्त भी हुई है तथा विभिन्न जांचों में सार्वजनिक जमीन पर अवैध कब्जे साबित भी हो चुके हैं। मास्टर विजय सिंह का धरना दुनिया का सबसे लंबा धरना बन चुका है, जिसे लिम्का बुक, एशिया बुक वर्ल्ड रिकार्ड इंडिया तथा अन्य रिकार्ड बुक ने भी अपने यहां शामिल किया है।

Share it
Top