अरविन्द हत्याकाण्ड में दो आरोपियों को उम्रकैद...कोर्ट ने किया दोनों पर 15-15 हजार का जुर्माना

अरविन्द हत्याकाण्ड में दो आरोपियों को उम्रकैद...कोर्ट ने किया दोनों पर 15-15 हजार का जुर्माना

मुजफ्फरनगर। मोबाईल के लेनदेन को लेकर हुई रंजिश के चलते एक युवक की लोहे की छडों से पीट-पीटकर की गई हत्या के मामले में आज कोर्ट ने दोनों हत्यारोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है। दोनों पर 15-15 हजार रूपये का जुर्माना भी किया गया है। अभियोजन के अनुसार 15 जनवरी 2014 को थाना भोपा क्षेत्र के गांव बरूकी में मोबाईल के लेनदेन को लेकर हुए विवाद की रंजिश में अरविन्द उर्फ बिट्टू की लोहे की छडों से पीट-पीटकर निर्मम हत्या कर दी गयी थी। इस हत्याकाण्ड में मृतक अरविन्द उर्फ बिट्टू के भाई आनन्द कुमार ने भोपा थाने में तहरीर देकर देवेश व कल्लू के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने दोनों हत्यारोपियों को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया था। इस मामले की सुनवाई एडीजे-पांच अरूण कुमार पाठक की कोर्ट में चली, जिसमें बीते दिवस कोर्ट ने अपने आदेश में दोनों को अरविन्द उर्फ बिट्टू की हत्या का दोषी करार दिया था। आज कोर्ट ने दोनों हत्यारोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है और दोनों पर 15-15 हजार रूपये का जुर्माना भी किया है। एडीजीसी फौजदारी सुभाष सैनी ने सात गवाह पेश कर इस मामले की कोर्ट में पैरवी की। कोर्ट के निर्णय के बाद मृतक अरविन्द उर्फ बिट्टू के भाई व इस मामले में पैरवी करने वाले आनन्द कुमार ने कोर्ट के फैसले पर संतोष जताया है। उन्होंने बताया कि इस घटना को लेकर गांव में काफी दिनों तक तनाव बना रहा था। मृतक के भाई ने बताया कि अरविन्द उर्फ बिट्टू की मोबाईल दिखाने को लेकर देवेश व कल्लू से कहासुनी हो गई थी, अरविन्द ने अपना नया मोबाईल उन दोनों को दिखाने से इंकार कर दिया था, जिस पर उनमें कहासुनी हुई थी। इसी बात को लेकर वे अरविन्द से रंजिश रखने लगे और एक दिन मौका पाकर अरविन्द को घेर लिया तथा उसकी लोहे की छडों से पीट-पीटकर हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में भोपा पुलिस की भी उन्होंने सराहना की।

Share it
Top