क्राइम ब्रांच व सिविल लाईन पुलिस ने किया अवैध मादक पदार्थों का कारोबार करने वाले गैंग का भंडाफोड....नशे के छह सौदागर गिरफ्तार, बडी मात्रा में नशीले पदार्थों समेत 14 लाख का माल बरामद

मुजफ्फरनगर। एसएसपी अभिषेक यादव के नेतृत्व में आज क्राइम ब्रांच टीम व थाना सिविल लाईन पुलिस द्वारा अन्तर्राज्यीय स्तर पर अवैध् मादक पदार्थों चरस, गांजा, स्मैक आदि का कारोबार करने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए नशे के छह सौदागर गिरफ्रतार किये हैं। उनके कब्जे से लगभग 12 लाख रुपये की कीमत का 65 किलो 50 ग्राम गांजा, एक लाख रूपये की कीमत की 40 ग्राम स्मैक, 50 हजार रुपये की कीमत की 1.5 किलोग्राम चरस व 32000 पैकिंग की पन्नी, पांच इलैक्ट्रोनिक कांटे, 11 मोबाईल फोन व अन्य सामान बरामद किया है, जिसकी कुल कीमत लगभग 14 लाख रुपये बताई जा रही है। एसएसपी ने इस गैंग का भंडापफोड करने वाली टीम को 25 हजार रुपये का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की है। पुलिस लाईन में पत्रकारों से वार्ता करते हुए एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि क्राइम ब्रांच टीम व थाना सिविल लाईन पुलिस ने संयुक्त रूप से टीम बनाकर बहुत ही चालाकी से रात्रि के समय थाना सिविल लाईन क्षेत्र में स्थित पुल के नीचे सरकारी भांग के ठेके की आड में अवैध् मादक पदार्थों की तस्कारी करने वाले अभियुक्तों को नटराज तिराहे से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार अभियुक्तों ने अपने नाम मनोज पुत्र श्रीचंद निवासी बुढाना मोड थाना शहर कोतवाली, जितेन्द्र पुत्र चन्द्रपाल सिंह निवासी मूसेपुर जलाल थाना कवारसी जनपद अलीगढ़ व रजनीश पुत्रा रामभजन निवासी ग्राम गदनापुर थाना हरपालपुर जनपद हरदौई बताया। गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ के दौरान अपने साथ अवैध मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले अपने चार अन्य साथियों के बारे में बताया, जिस पर क्राइम ब्रांच व सिविल लाईन थाने की टीम ने गांव कूकड़ा में छापा मारकर तीन अभिुक्तों को दबोच कर लिया, जिन्होंने पूछताछ में अपने नाम बालेन्द्र पुत्र राजवीर व राहुल पुत्र जयकुमार निवासीगण ग्राम कुरथल थाना बुढाना हाल निवासी गांव कूकड़ा थाना नई मंडी तथा संजय पुत्रा रामपाल निवासी ग्राम पंडारी नवाबगंज थाना सांडी जनपद हरदौई बताया है, जबकि उनका एक साथी प्रमोद पुत्र धन्नी निवासी ग्राम छपरगढ़ थाना दनकौर जनपद गौतमबुद्धनगर मौके से भाग जाने में कामयाब रहा, जिसकी तलाश में क्राइम ब्रांच की टीम जुट गयी है। एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों के कब्जे से लगभग 12 लाख रुपये की कीमत का 65 किलो 50 ग्राम गांजा, एक लाख रूपये की कीमत की 40 ग्राम स्मैक, 50 हजार रुपये की कीमत की 1.5 किलोग्राम चरस व 32000 पैकिंग की पन्नी, पांच इलैक्ट्रोनिक कांटे, 11 मोबाईल फोन व अन्य सामान बरामद किया है, जिसकी कुल कीमत लगभग 14 लाख रुपये है। एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त बालेन्द्र ने पूछताछ में पुलिस को जानकारी दी कि उसने सरकारी भांग के ठेके का लाईसेंस अपने रिश्तेदार सोनू पुत्र अतरसिंह निवासी सैनपुर थाना बुढाना के नाम पर लिया हुआ है। वह अपने साथी मनोज, राहुल, रजनीश, संजय, जितेन्द्र आदि इसी सरकारी ठेके की आड लेकर अपने फरार साथी प्रमोद से थोक में माल लेते थे और फिर इसी छोटी-छोटी 1-1 ग्राम की पन्नियों में पैक करके महंगे दामों पर उनके द्वारा चलाये जा रहे अवैध ठेकों अलमासपुर, भोपा बस स्टैण्ड, सुजडूचुंगी नं.-1, चुंगी नम्बर-2, खालापार, वहलना चौक, रूड़की चुंगी व शहर की भीड़भाड वाले स्थानों तथा अपने सरकारी ठेके पर, जो भोपा पुल के नीचे है, पर लाकर बेचते हैं। उनके द्वारा मुजफ्फरनगर, मेरठ, गाजियाबाद आदि के अतिरिक्त दिल्ली व हरियाणा आदि राज्यों में भी अवैध मादक पदार्थों को बेचने व सप्ताई करने का काम किया जा रहा था। एसएसपी अभिषेक यादव ने इस गैंग का भंडाफोड करने वाली टीम को 25 हजार रुपये का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की। इस गैंग को गिरफ्तार करने वाली टीम में क्राइम ब्रांच से एसआई प्रवेश शर्मा, अशोक खारी, सोनू शर्मा, जितेन्द्र त्यागी, हरवेन्द्र, विनीत, वकार, सतेन्द्र शामिल रहे, जबकि थाना सिविल लाईन की टीम में थानाध्यक्ष समयपाल अत्री , एसआई अनित यादव, अरविन्द कुमार, विकेश कुमार व पंकज कुमार शामिल रहे। नशे के अवैध् कारोबार का खुलासा करते हुए एसएसपी ने इस ध्ंध्े में एक पूर्व पत्रकार समेत कुछ मीडियाकर्मियों की संलप्तिता होने की जानकारी भी दी है, जिसकी जांच करायी जा रही है।

Share it
Top