मुज़फ्फरनगर: 14 साल की बेटी को जहर देकर श्मशान में छोड़ा, तड़प-तड़प कर तोड़ दम

मुज़फ्फरनगर: 14 साल की बेटी को जहर देकर श्मशान में छोड़ा, तड़प-तड़प कर तोड़ दम

मुज़फ्फरनगर/गाजियाबाद। भोपा में इज्जत के नाम पर गाजियाबाद के एक व्यक्ति ने कक्षा सात में पढ़ रही अपनी बेटी (14) को शुक्रताल लाकर जहर दे दिया और उसे मरने के लिए श्मशान में छोड़कर चला गया। गंभीर हालत में पुलिस ने उसे भोपा के स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। मरने से पहले पुलिस को दिए बयान में किशोरी ने पूरी घटना की जानकारी पुलिस को दी है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर हत्यारोपी बाप को गिरफ्तार कर लिया है।

धार्मिक नगरी शुक्रताल के श्मशान घाट में लोगों ने इस किशोरी को बेंच पर पड़े देखा और इसकी सूचना पुलिस को दी। किशोरी ने पुलिस को बताया कि वह गाजियाबाद के सिहानी गेट थाना क्षेत्र के गांव सिकरौड़ की रहने वाली है और उसके पिता ने ही उसे जहर दिया है। पुलिस उसे सीएचसी पर भर्ती कराया। उसने यह भी बताया कि गांव रहकड़ा में उसकी बुआ रहती है और उसका पिता भी वहीं होगा। पुलिस ने रहकड़ा में दबिश देकर उसके पिता को गिरफ्तार कर लिया।

किशोरी के पिता पुलिस को बताया कि उसकी बेटी का चालचलन सही नहीं था और उसकी बदनामी हो रही थी। उसने उसे मारने के सिवा कोई ओर चारा नहीं होने की बात कही। थाने में तैनात सिपाही दीपक की तहरीर पर उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। किशोरी कुछ समय से अपनी बुआ के पास गांव रहकड़ा में रह रही थी। उसका पिता भी दो दिन पहले यहां आया था और सोमवार दोपहर को उसे घुमाने के बहाने शुक्रताल लाकर जहर दे दिया। इंस्पेक्टर भोपा बीपी यादव ने बताया कि पिता ने ही बदचलनी को लेकर बेटी को जहर देकर श्मशान में छोड़ दिया था। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

Share it
Top