फसली ऋण योजना से लाभान्वित हुए 13869 किसान

फसली ऋण योजना से लाभान्वित हुए 13869 किसान

मुजफ्फरनगर। विधायक कपिलदेव अग्रवाल ने कहा कि देश का अन्नदाता खुशहाल होगा, तो देश प्रगति के पथ पर आगे बढेगा। उन्होंने कहा कि किसान की खुशहाली का लाभ व्यापारी वर्ग उद्योग एवं मजदूरों को भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि सरकार की फसली ऋण मोचन योजना किसानों के उन्नयन एवं विकास में सहायक होगी। उन्होंने कहा कि आज फसली ऋण मोचन योजना के प्रमाण पत्र वितरित किये जा रहे है। उन्होेंने कहा कि पात्र कृषकों के बैक खातों में ऋण मोचन की धनराशि भेज दी गयी है। उन्होंने कहा कि तृतीय चरण में 13869 कृषकों के खाते में 102 करोड रूपये की धनराशि भेजी जा रही है। उन्होंने कहा कि आज सभी तहसीलों में किसानों को ऋण मोचन प्रमाण पत्र वितरित किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि सरकार की किसानों के ऋण मोचन के अनुरूप आज तीसरे चरण में किसानों को कैम्प लगाकर यह प्रमाण पत्र दिये जा रहे है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार किसानों के उत्थान के लिए है। विधायक प्रमोद उंटवाल ने कहा कि सरकार ने किसानों के हित के लिए किये गये सभी वायदे पूर्ण किये। उन्होंने कहा कि गांवों को 18 घण्टे बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। ट्रांसफार्मर समय सीमा के अन्तर्गत बदले जा रहे है।
विधायक कपिलदेव अग्रवाल एवं विधायक प्रमोद उंटवाल तथा जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी आज यहां कूकडा मण्डी में प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना फसली ऋण मोचन के तहत तृतीय चरण के पात्रा कृषकों को फसली ऋण मोचन योजना के प्रमाण पत्र वितरित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने पहली ही कैबिनेट बैठक में किसानों के फसली ऋण मोचन का निर्णय लिया था। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार किसानों को स्वावलम्बी बनाने की दिशा में लगातार प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्राी का प्रयास है कि किसानों की आय दोगुनी हो। उन्होंने कहा कि 'सबका साथ सबका विकास' पर प्रदेश सरकार कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि किसान भाई खुशहाल हो और जीवन में आगे बढे। उन्होंने कहा कि किसान का कल्याण होगा, तो देश का विकास होगा।
जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी ने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि फसल ऋण मोचन योेेजना मुख्यमंत्राी की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में एक है। उन्होंने कहा कि समाज के हर वर्ग सहित ग्रामों व किसानों को विकास के प्रकाश से जागृत करने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि देश के विकास मंें किसानों का अहम योगदान है। किसान के द्वारा उत्पादित अन्न से ही देश को अन्न प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्राी ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना किये जाने का विजन देश को दिया है, जिसके क्रम में प्रदेश सरकार की वर्तमान फसली ऋण योजना इस दिशा में एक प्रमुख पहल है। उन्होंने कहा कि इस योजना से प्रदेश के लघु एवं सीमान्त किसानों के 31 मार्च 2016 तक लिये गये फसली ऋण में से 31 मार्च 2017 तक बकाया के बोझ को न केवल उनके कन्धों से उतारने का प्रयास है, बल्कि उनकी साख को बढाकर उन्हे भविष्य से बैंकों से ऋण प्राप्त करने में मदद करने का एक महत्वपूर्ण कदम है। जिलाधिकारी ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार किसानों के उन्न्यन एवं सतत विकास हेतु अनेकों योजनाएं संचालित कर रही है। उन्हांेने कहा कि ऋण मोचन किसानों के विकास में सहायक होगा। उन्होंने कहा कि इससे महत्वपूर्ण किसानों की मूल आवश्यकता बिजली, खाद व पानी को उपलब्ध कराना है। उन्होंनें कहा कि जनपद डार्क जोन होने के कारण भूजल स्तर गिर रहा है, जिसको देखते हुए सरकार द्वारा ड्रिप योजना में कृषकों को 50 प्रतिशत से बढाकर 90 प्रतिशत तक अनुदान दिया जा रहा हैं। उन्होंने बताया कि किसानों को उन्नतशील बीज व उर्वरक प्रदान किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि किसानों को नयी तकनीकी के आधार पर खेती करने की जानकारी प्रदान की जा रही है।
जिलाधिकारी ने कहा कि किसान हमारा अन्नदाता है। उन्होंने कहा कि आज का यह ऋण मोचन कार्यक्रम सरकार द्वारा किसानों के हितार्थ चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा कई महत्वपूर्ण पफैसले लिए गये है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार निरन्तर किसान हित में पफैसले ले रही है। जिलाधिकारी ने कहा कि तृतीय चरण मंे पफसल )ण मोचन योजना के अन्तर्गत जनपद के पात्रा किसानों के खातों में धनराशि भेजी जा चुकी है। इसके अतिरिक्त आज जनपद की अन्य तहसीलों में भी ऋण मोचन प्रमाण पत्रों का वितरण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों को बैकांे से ऋण लेने में अब आसानी होगी। उन्होंने कहा कि सभी बैंकांे एवं कृषि विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों तथा समिति के अन्य अधिकारियों द्वारा सभी चरणों में समय सीमा के अन्तर्गत कार्य पूर्ण कर डिमाण्ड जनरेट की और पात्र कृषकों के खातों में धनराशि भेजी गयी। उन्होंने बताया कि 38 हजार 200 कृषकों के खाते में ऋण मोचन की धनराशि पहंुची है।
जिलाधिकारी ने कहा कि उपस्थिति सभी कृषकों से अपेक्षा है कि वे अपने घरों में बने हुए शौचालयांे का उपयोग करें और स्वच्छता कार्यक्रम में अपना सहयोग प्रदान करें। उन्होंने कहा कि 12 हजार रूपये की धनराशि पात्रा लाभार्थियों के खाते में सीधे भेजी जा रही है। यह धनराशि दो किस्तों में भेजी जा रही है। ग्राम प्रधानांे को शौचालय निर्माण में समन्वय का दायित्व सौंपा गया है। उन्होंने कहा कि जिन पात्रा परिवारों में शौचालय का निर्माण नहीं हो पाया है वे यथाशीघ्र शौचालय का निर्माण करा लें। उनके खातें में धनराशि भेजी जायेगी। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में ऐसा कोई व्यक्ति बचना चाहिए, जिसके सिर पर छत न हो। उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता है कि सभी के पास आवास हो। उन्होंने कहा कि जो लोग आवासहीन है और आवास के पात्राता में आते है, उन सभी को आवास मुहैया कराये जायेंगे। उन्होंने कहा कि पात्रता श्रेणी में आने वाले अपने ग्राम प्रधान से सम्पर्क कर ले, साथ ही साथ जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार की सभी योजनाओं को लाभ समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति तक पहंुचे यह उनकी प्राथमिकता है।
जानसठ तहसील में सांसद डॉ. संजीव बालियान एवं मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने पात्र लाभार्थियों को ऋण मोचन प्रमाण पत्रा वितरित किये। इसके अतिरिक्त बुढाना तहसील में विधायक उमेश मलिक द्वारा ऋण मोचन प्रमाण पत्रोें का वितरण किया गया तथा तहसील खतौली में सांसद डॉ. संजीव बालियान ऋण मोचन प्रमाण पत्रा वितरण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि रहे।
इस अवसर पर विधायक कपिलदेव अग्रवाल, प्रमोद उंटवाल सहित जिलाध्यक्ष भाजपा रूपेन्द्र सैनी, अपर जिलाधिकारी वि/रा सुनील कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन हरीशचन्द्र, जिला कृषि अधिकारी एवं एलडीएम शशी जैन आदि उपस्थित थे।

Share it
Top