जुलाई माह में वसूला गया 1.12 लाख का जुर्माना

जुलाई माह में वसूला गया 1.12 लाख का जुर्माना

मुजफ्फरनगर। माह जुलाई में मुजफ्फरनगर के रेलवे स्टेशन पर मौजूद टिकट निरीक्षकों की टीम द्वारा कई केसों में एक लाख बारह हजार से अधिक का जुर्माना वसूला गया। यह जुर्माना हो सकता था, लेकिन दो सप्ताह का ट्रैक ब्लॉक जुर्माना कम होने की वजह बना। जिसके चलते रेलवे के राजस्व में कमी आयी। यह राजस्व और भी कम हो सकता था, लेकिन टिकट निरीक्षकों के द्वारा शहर से बाहर की गयी चैकिंग के चलते ही यह जुर्माने की रकम एक लाख से उफपर हो सकी है। जिसके अगस्त में बढ़ने की संभावना व्यक्त की गयी है।
इसके साथ ही माह अप्रैल में मुजफ्फरनगर के रेलवे स्टेशन पर विद्यमान टिकट निरीक्षकों की टीम द्वारा 88 हजार से अधिक का जुर्माना वसूला गया था। इसके विपरीत मार्च माह में मुजफ्फरनगर स्टेशन पर विद्यमान टिकट निरीक्षकों की टीम ने 59,890 रूपये का जुर्माना वसूला था। माह पफरवरी मंे बिना टिकट यात्रा करने वाले 341 केस पकड़े थे। जनवरी माह में इसके मुकाबले 260 केस पकड़े गये थे। माह पफरवरी में जनवरी के मुकाबले 23,475 रूपये का जुर्माना अधिक वसूला गया था। इसके विपरीत मार्च में यह आंकड़ा फरवरी के मुकाबले 45,410 रूपये कम रहा था।
मुख्य टिकट निरीक्षक रविंद्र कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि इस बार जुलाई में उनके व उनकी टीम के द्वारा बिना टिकट यात्रा करने के अनेक केस पकड़े गये। जिन्हें एक लाख बारह हजार से अधिक का राजस्व वसूला गया जुर्माने के रूप में। उन्होने बताया कि यह राजस्व और अधिक हो सकता था, लेकिन दो सप्ताह का रेलवे लाइन के दोहरीकरण के चलते किया गया ट्रैक ब्लॉक राजस्व कम होने की वजह बना। यह राजस्व भी टीम के द्वारा नगर के स्टेशन से अलग अनेक स्थानों पर की गयी चैकिंग के चलते ही हो सका। रविंद्र कुमार ने आगे बताया कि इसके अगस्त माह में वृद्धि करने के पूरे चांस हैं।
अपेरल माह के मुकाबले अधिक जुर्माना बिना टिकट यात्रा करने वालों से वसूला गया। इस बार मई में कुल 348 केसों में एक लाख सतरह हजार से अधिक का जुर्माना वसूला गया। उन्होंने बताया कि अधिक जुमाना वसूले जाने के पीछे कारण गर्मी के मौसम में अधिक रहा है। इसके विपरीत जून के माह में जुर्माना वसूली मंे भारी कमी के आसार नजर आ रहे हैं। इसके कारण है 16 जून तक होने वाला दो घंटे का ट्रैक ब्लॉक। जुर्माना वसूली के मामले में मई के विपरीत अपेरल माह में 88 हजार से अधिक का जुर्माना वसूला गया था। वहीं मार्च माह में फरवरी माह की अपेक्षा कम जुर्माना बिना टिकट यात्रा करने वालों से वसूला गया था। उन्होंने बताया कि मार्च में बिना टिकट यात्रा करने वाले 204 केस पकड़े गये थे। जिन से 59,890 रूपये का जुर्माना वसूला गया था। फरवरी में बिना टिकट यात्रा करने वाले 341 लोगों को पकड़ा गया था। जिन से 1,05,300 रूपये का जुर्माना वसूला गया था। इस प्रकार से माह मार्च में पफरवरी की अपेक्षा 137 केस (बिना टिकट यात्री) कम आये तथा उनसे फरवरी की अपेक्षा 45410 रूपये का जुर्माना कम वसूला गया था। वहीं जनवरी माह में बिना टिकट यात्रा करने वाले 260 केस आये थे, जिनसे 77055 रूपये का जुर्माना वसूला गया था। उन्होंने बताया कि यह जुर्माना उनकी टीम के सदस्यों कृष्ण गोपाल चौधरी, पवन कुमार, मनीष कुमार, रविशंकर, रोशन लाल तथा प्रीतम सिंह तथा उनके द्वारा वसूला गया है।

Share it
Top