मोदी-योगी को गालियां दिलवाकर व गोली मारने की धमकी देते हुए वीडियो वायरल, आरोपी युवक गिरफ्तार

मोदी-योगी को गालियां दिलवाकर व गोली मारने की धमकी देते हुए वीडियो वायरल, आरोपी युवक गिरफ्तार

मीरापुर। कुछ युवकों ने प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी व उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ को नाबालिग बच्चों से गन्दी-गन्दी गालियां दिलवाते हुए बच्चों की वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी। वीडियो में प्रधानमन्त्री को गोली मारने की धमकी भी नाबालिग द्वारा दी गयी। वीडियो वायरल होने से क्षेत्र में लोगों में रोष व्याप्त हो गया। सूचना पर पुलिस ने कार्यवाही करते हुए एक आरोपी युवक के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर युवक को गिरफ्तार कर लिया, जबकि अन्य युवकों से सुविधा शुल्क लेकर नाम निकालने की चर्चा।
प्रशासन की सोशल मीडिया पर विवादित पोस्ट डालने वालो के विरूद्ध कडी कार्यवाही किये जाने की चेतावनी के बावजूद असामाजिक तत्व विवादित वीडियो व पोस्ट सोशल मीडिया पर अपलोड कर माहौल खराब करने का प्रयास कर रहे हैं। ऐसा ही मामला मीरापुर क्षेत्र के ग्राम खेडी सराय के कुछ युवकों ने कर दिया। मेरठ के जानी थानाक्षेत्र के सिवाल खास निवासी कलवा कई वर्ष पूर्व मीरापुर क्षेत्र के ग्राम खेडीसराय में आकर रहने लगा। बुधवार को कलवा के पुत्र नसीम ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर गांव के ही कुछ नाबालिगबच्चों को एकत्र कर देश के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी व उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ के प्रति अशोभनीय भाषा का प्रयोग कराते हुए दोनो को गन्दी-गन्दी गालियाँ दिलवाकर बच्चों की वीडियों बनायी। युवकों द्वारा बनायी गयी करीब तीन मिनट की इस वीडियों में प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी को गोली मारने की बात भी कहलवायी गयी है। इसके बाद युवकों ने उक्त वीडियों को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। सोशल मीडिया पर वाडियो वायरल होते ही यह खबर जंगल में आग की तरह फैल गयी तथा लोगों में आक्रोश भर गया। इसी बीच किसी ने मीरापुर पुलिस को इसकी सूचना दी, जिस पर पुलिस ने गांव खेडी सराय में दबिश देकर एक आरोपी युवक नसीम पुत्र कलवा को गिरफ्तार कर लिया और उसके विरूद्ध गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया, जबकि पुलिस ने वीडियो बनवाने व वायरल करने में शामिल रहे अन्य युवकों के विरूद्ध कोई कार्यवाही नहीं की है, चर्चा है कि पुलिस ने सुविधा शुल्क लेकर अन्य युवकों के नाम मुकदमा दर्ज नहीं किया है। पुलिस की शेष आरोपियों को बचाने की कार्यवाही से क्षेत्र में पुलिस के प्रति रोष व्याप्त हो रहा है।

Share it
Top