आसमान में छाया धूल का गुबार

आसमान में छाया धूल का गुबार

मुजफ्फरनगर। शहर में बुधवार सुबह से एकाएक आसमान मंे धूल का गुबार बढ़ने से गर्मी से जूझ रहे लोगों के सामने दोहरी दिक्कत खड़ी हो गयी। इस धूल के गुबार के कारण हवा में प्रदूषण का स्तर इस कदर खरनाक हो गया कि कई लोगों ने सांस लेने में दिक्कत की शिकायत हुई। अचानक हुए मौसम के इस बदलाव से सड़कों पर सबसे ज्यादा दिक्कत वाहन चालकों को हुई। वह इसलिए कि दृश्यता कम होने के साथ दम घुटने जैसा लगने से स्पीड पर फर्क पड़ा। जिस कारण शहर में कई जगह जाम जैसी भी स्थिति बनी।
वहीं मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि वायु में पीएम 10 कणों का घनत्व बढ़ने के कारण हवा ज्यादा प्रदूषित हो गई है, एक्यूआई का स्तर दो सौ से अधिक होने पर सेहत के लिए हानिकारक माना जाता है। वही मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि बारिश से पहले उमस भरी गर्मी परेशान करेगी। लोगों को गर्मी से राहत नहीं मिल रही है। मौसम जानकारों की माने अगर बारिश नहीं हुई, तो ये धूल और हवा में प्रदूषण और ज्यादा दिक्कत कर सकता है। आज सुबह से ही आकाश में पीलापन या धुंधलापन देखा जा रहा था। वह किसी बादल का परिणाम नहीं है। राजस्थान से आ रही पछुआ हवाएं अपने साथ धूल ला रही हैं, जिससे उत्तर के मैदानी भागों में मौसम धुंधला हो गया है और आसमान में धूल का गुब्बार सा छा रहा है। इसका मुख्य असर पंजाब, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा व उत्तर प्रदेश में देखा जा रहा है। हालांकि इससे घबराने की कोई जरूरत नहीं है। यह कोई बादल नहीं है, जो किसी मौसमी हलचल को रूप दे। इसके अभी ऐसे ही बने रहने के आसार हैं तथा अगले कुछ दिनों मौसम विभाग द्वारा बारिश या आंधी की भी कोई संभावना नहीं बतायी गयी है।

Share it
Share it
Share it
Top