किसानों की समस्याओं का निस्तारण समय से होः राजीव शर्मा

किसानों की समस्याओं का निस्तारण समय से होः राजीव शर्मा

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी राजीव शर्मा ने कहा कि जनपद में 68 को-आपरेटिव सोसायटी कार्यरत हैं। उन्होंने एआर को-आपरेटिव को निर्देश दिये कि अभियान चलाकर को-आपरेटिव सोसायटी के सदस्य बनाये जाये। उन्होंने कहा कि किसानों को सभी सम्भव लाभ मिलने चाहिए। उन्होंने कहा कि किसानों की हर समस्या का समाधान प्राथमिकता पर हो। उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग सुनिश्चित करे कि 01अप्रैल 2017 से 31 मार्च 2018 तक के नलकूपों के बिलों पर ओटीएस की सुविधा उन्हें उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने कहा कि उनके कनेक्शन के भार क्षमता से अधिक वसूली न की जाये। उन्होंने कहा कि अधिकारी किसानो की समस्याओं को गम्भीरता से लें और संवेदनशील होकर समय सीमा के अन्तर्गत शिकायतों का निस्तारण करंे। उन्होंने किसानों को उन्नतशील बीज एवं कृषि रसायन आदि की जानकारी भी उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग का दायित्व है कि पफसल की बुआई के पहले ही कृषकों के मृदा परीक्षण कराया जाये और उन्हें कार्ड भी उपलब्ध कराया जाये, जिससे उन्हें यह जानकारी मिल सकें कि उनके खेत को कितने उर्वरक की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कृषि वैज्ञानिक पर की जाये, जिससे अधिक उपज ली जा सकें। जिलाधिकारी ने पीओएस मशीनों की खराबी दूर कराने के संबंध में शासन स्तर पर वार्ता करने के निर्देश एआर को-आपरेटिव को दिये। उन्होंने बताया कि किसानों को खाद आदि मिलने में कोई कठिनाई नहीं होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि जनपद में खाद की कोई कमी नहीं है।
जिलाधिकारी राजीव शर्मा आज यहां जिला पंचायत सभागार में किसान दिवस के अवसर पर किसानों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग मृदा परीक्षण मशीन से किसानों की मृदा का गुणवत्ता पूर्ण परीक्षण कराये। यदि परीक्षण में कहीं गड़बड़ी पायी जाये, तो सम्बन्धित कर्मचारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा मशीनों से मृदा परीक्षण होने से किसानों को यह जानकारी मिल सकेगी कि उन्हें उनकी पफसल के लिए कितना उर्वरक एवं पेस्टीसाईडस डाले जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाये कि चीनी मिलों जनपद के सभी किसानों का गन्ना क्रय किया जाये और उसका भुगतान समय पर किया जाये। उन्होंने कहा कि गन्ना क्रय मूल्य का भुगतान न करने वाले चीनी मिलों के खिलाफ जिला गन्ना अधिकारी कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि बिजली लाईन से होने वाली पफसल हानि एवं पशु हानि के प्रकरणों में शीघ्र कार्यवाही कराते हुए सम्बन्धित को मुआवजा राशि का भुगतान कराया जा रहा है।
जिलाधिकारी ने कहा कि अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिये कि ठेके पर कार्यरत कर्मियों को आई कार्ड और वर्दी में ड्यूटी पर रहने के निर्देश दिये जाये। अपने समस्त ठेकेदारों को लेकर उनसे मिलें और एक सप्ताह के अन्दर उन्हें आई कार्ड दिये जाये, जिससे ग्रामीण क्षेत्रो में उनकी पहचान हो सके। उन्होंने कहा कि आई कार्ड पर विद्युत विभाग के अधिकारियों के काउंटर साइन कराने सुनिश्चित किये जायेंगे। उन्होंने सौभाग्य योजना के अन्तर्गत ऐसे लोगांे, जो पात्रता में आते हैं और अभी तक कनेक्शन से वंचित हैं, उन्हें प्राथमिकता पर विद्युत कनेक्शन उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने जिला कृषि अधिकारी को निर्देश दिये कि केसीसी पर मिलने वाले फसली ऋण के अन्तर्गत कृषकांे को समय पर भुगतान करने के बाद ब्याज मे सब्सिडी उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिये। एक अन्य प्रकरण में किसान के 50 मीटर की दूरी के बजाय 500 मीटर की दूरी बताने पर अधिशासी अभियंता को तीन दिन मंे जांच कर आख्या उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिये।
इस अवसर अपर जिलाधिकारी वि/रा सियाराम मौर्य, जिला कृषि अधिकारी, जिला गन्ना अधिकारी, एआर को-ऑपरेटिव सहित किसान नेता एवं बडी संख्या में किसान व अन्य सभी सम्बन्धित अधिकारी मौजूद थे।

Share it
Share it
Share it
Top