पुत्री को शारीरिक प्रताडना देने से परेशान पिता ने की आत्महत्या

पुत्री को शारीरिक प्रताडना देने से परेशान पिता ने की आत्महत्या

मंसूरपुर। पुत्री को ससुराल वालों की ओर से दहेज को लेकर बार-बार शारीरिक प्रताडऩा दिए जाने पर और पुत्री की गंभीर हालत को देखते हुए पिता ने जहर का सेवन किया, जिससे इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मृतक के पुत्र ने थाना पुलिस को बहन की ससुराल वालों के खिलाफ तहरीर दी है और महिला थाना पर भी मौखिक आरोप लगाया कि इस मामले को लेकर वह महिला थाने गए थे। मगर एक महिला कांस्टेबल ने उन्हें धक्के देकर बाहर निकाल दिया था। थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
गांव पुरबालियान निवासी अख्तर पुत्र मौहम्मद उमर की पुत्री 26 वर्षीय साहिस्ता की शादी 9 अप्रैल 2०12 को पसौंडा थाना साहिबाबाद गाजियाबाद निवासी अमीर हसन पुत्र हसरत अली के साथ हुई थी। शादी के छह माह बाद ही ससुराल वाले दहेज की मांग करने लगे और मांग पूरी ना होने पर शारीरिक यातनाएं देने लगे। उसे बुरी तरह मारा-पीटा जाने लगा। आरोप है कि साहिस्ता के गर्भ में दो माह का बच्चा भी था, जिसे मारपीट के द्वारा गिरा दिया गया था। इस मामले को लेकर कई बार गणमान्य लोगों के बीच समझौता भी किया गया, मगर ससुराल वाले अपनी हरकतों से बाज नहीं आए और उसे मारते-पीटते रहे। एक अप्रैल को साहिस्ता का भाई मौहम्मद इरशाद अपने एक रिश्तेदार के साथ उसकी ससुराल गया और गंभीर घायल साहिस्ता को अपने गांव ले आया व साहिस्ता को लेकर महिला थाना मुजफ्फरनगर शिकायत करने के लिए गया, मगर उस समय वहां पर थाना प्रभारी मौजूद नहीं थी। उसने मामले की जानकारी एक महिला कांस्टेबल को दी, तो उक्त महिला कांस्टेबल ने उन्हें धक्के देकर वहां से भगा दिया। वह वापस थाना मंसूरपुर में पहुंचा और मौखिक रूप से पुलिस को मामले की जानकारी दी। थाना पुलिस ने लिखित में देने के लिए कहा और मामले में कार्रवाई करने के लिए भी कहा। मौहम्मद इरशाद अपनी बहन को गंभीर अवस्था में बेगराजपुर मैडिकल में लेकर गया और वहां पर उसका उपचार शुरू करवा दिया। अपनी पुत्री की हालत पिता अख्तर से देखी नहीं जा रही थी। वह अंदर से पूरी तरह टूट चुका था। इसी कारण उसने सोमवार सुबह करीब साढे नो बजे जहर का सेवन कर लिया, जिससे उसकी हालत खराब होने पर उसे बेगराजपुर मैडिकल में भर्ती कराया गया, जहां पर दोपहर करीब डेढ़ बजे उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। मौत की सूचना पर परिवार में कोहराम मच गया और जब साहिस्ता को पिता की मौत की सूचना मिली, तो वह जार जार रोई। उसकी जुबान पर बस एक ही बात आ रही थी कि आज मेरी वजह से मेरे पिता ने मौत अपने गले लगा ली। काश मैं दुनिया में पैदा ही ना होती। मामले की जानकारी थाना पुलिस को मिली, तो सीओ खतौली डॉ. राजीव कुमार व थाना प्रभारी केपीएस चाहल मैडिकल में पहुंचे और शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। पुलिस ने मृतक के परिजनों को आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करने का आश्वासन भी दिया। मृतक के पुत्र मौहम्मद इरशाद ने अपनी बहन साहिस्ता के पति दो जेठ व दो जेठानियों के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। थाना प्रभारी केपीएस चाहल का कहना है कि आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Share it
Top