बॉण्ड को लेकर दो गुटों में ठनी जिला गन्ना अधिकारी का किसानों ने किया घेराव

बॉण्ड को लेकर दो गुटों में ठनी जिला गन्ना अधिकारी का किसानों ने किया घेराव

मोरना। डबल बॉण्ड को बन्द कराने व चलाये जाने को लेकर मोरना क्षेत्र के किसान और भाकियू कार्यकर्ताओं में टकराव के चलते मोरना मिल जंग का अखाडा बन गया है। किसानों की समस्याओं को सुनने पहुँचे जिला गन्ना अधिकारी का किसानों ने घेराव करते हुए जमकर खरी खोटी सुनाते हुए गन्ना माफियाओं के साथ मिलीभगत का आरोप लगाते हुए करोडों रूपये के खेल में शामिल होने की बात कही, जिसको लेकर भाकियू कार्यकर्ताओं व किसानों के एक गुट में जमकर कहासुनी हुई। किसानों के दबाब के चलते जिला गन्ना अधिकारी ने मिल अधिकारियों को मौके पर बुलाकर डबल बॉण्ड बन्द करने के आदेश दिये। मिल गेट पर गन्ना डालने वाले किसानों के गन्ना सट्टे की जांच कर सट्टे की परची जारी करने को कहा।
थाना भोपा क्षेत्र स्थित दि गंगा किसान चीनी मिल मोरना आजकल एक गन्ना सटटा पर डबल गन्ना सप्लाई करने का लेकर मिल परिसर जंग का अखाडा बना हुआ है, जहां पर मोरना क्षेत्र के किसान रामपाल, गुलबीर राठी, डायरेक्टर धीर सिंह, रालोद के बिन्नु राठी, राहुल, डायरेक्टर संजीव, विकास, टीटू, बाबुराम, बिन्दर सिंह, श्यामबीर, मा. चंद्रवीर सिंह, बिजेंद्र सिंह, टोनी आदि ने जिला गन्ना अधिकारी ओमप्रकाश यादव सहित खाईखेडी मिल के उप-महाप्रबन्धक शाईम अंसार, वरिष्ठ प्रबन्धक अरूण सिंह का घेराव करते गन्ना माफियाओं के साथ सांठ-गांठ करते हुए करोडों रूपये कमाने का आरोप लगाते हुए गेस्ट हाऊस में हंगामा खडा कर दिया और जिला बिजनौर के रकबे की फर्जी फरदों पर हजारों कुन्तल गन्ना पांच जगह पर गन्ना सट्टे चलाकर फर्जीवाडा करने की बात कही, जिसको लेकर भाकियू कार्यकर्ताओं योगेश शर्मा, सर्वेेद्र राठी, बिट्टू प्रधान आदि के साथ आये गंगा खादर किसानों के साथ कहासुनी होने पर भारी तनाव उत्पन्न हो गया, जिसमें भाजपा नेता अमित राठी, मिल चेयरमेन पति देवेंद्र सिंह ने दोनो पक्षों को समझा बुझाकर शांत किया। इसके उपरान्त जिला गन्ना अधिकारी ने मोरना मिल के मुख्य गन्नाधिकारी राजकुमार सिरोही व सीओ अखिलेश को मौके पर बुलाकर डबल बॉण्ड को बन्द रखने व जो गांव बिहारगढ, शुक्रताल और मजलिसपुर तौफीर के किसान मिल गेट पर एक बॉण्ड पर गन्ना लगातार डाल रहे हैं, उनकी जांच कर परची जारी करने के आदेश दिये और डबल बॉण्ड वाले गन्ना माफियाओं की जांच कराकर उनके विरूद्ध कानूनी कार्यवाही की जायेगी। वहीं खाइेखेडी मिल अधिकारियों को फटकार लगाते हुए मोरना मिल के 6 गन्ना सैंटरों पर नियमित रूप से गन्ना तोल कराने के आदेश दिये।

Share it
Top