ट्रैक ब्लॉक दूसरा चरणः ट्रेनों को तलाशते रहे यात्री

ट्रैक ब्लॉक दूसरा चरणः ट्रेनों को तलाशते रहे यात्री

मुजफ्फरनगर। मार्च माह का दूसरा मंगलवार भी ट्रेन यात्रियों के लिए भारी रहा। इस माह के दूसरे सात घंटे के ट्रैक ब्लॉक के चलते पूरे दिन यात्री ट्रेनों को लेकर मारे-मारे पिफरते हुए नजर आये। मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन की स्थिति इस प्रकार की नजर आ रही थी कि जैसे मरघट हो। पूरा स्टेशन विरान नजर आ रहा था। केवल पूछताछ केंद्र पर ही यात्रियों का ट्रेनों की स्थिति को लेकर जमावड़ा नजर आया। अन्यथा तीनों प्लेटफार्म, आरक्षण केंद्र, विश्राम कक्ष सहित टिकटघर पर विरानी छायी रही। सभी रेलवे कर्मचारी हाथ पर हाथ धरे हुए बैठे रहे। मंगलवार को सात घंटे का मेगा ट्रेक ब्लॉक का दूसरा चरण था, जिसके चलते आठ ट्रेनों को रद्द किया गया, कुछ के मार्ग परिवर्तित किये गये तथा कुछ का संचालन छोटा किया गया। नौचंदी का संचालन मेरठ से किया गया।
मार्च माह में रेलवे विभाग की ओर से किये जाने वाले मेगा ट्रैक ब्लॉक के चलते आज इसका दूसरा चरण था। जिसके चलते दोपहर 12 बजे से लेकर शाम के सात बजे तक सात घंटे का ट्रैक ब्लॉक लिया गया। यह सात घंटे का ट्रैक ब्लॉक यात्रियों के लिए किसी जी के जंजाल से कम नहीं रहा। जिन यात्रियों को इसके विषय में जानकारी थी, वह तो अन्य साधनों का प्रयोग कर अपने गंतव्य की ओर प्रस्थान कर गये, लेकिन जिन यात्रियों को मार्च माह में हर मंगलवार को होने वाले सात घंटे के मेगा ट्रैक ब्लॉक के विषय में जानकारी नहीं थी, वह स्टेशन पर ट्रेनों की तलाश में मारे-मारे पिफरते हुए नजर आये। ट्रेनों की जानकारी करने को लेकर पूछताछ केंद्र पर भारी जमावड़ा नजर आया। इसके अलावा पूरे स्टेशन पर मरघट का सा सन्नाटा पसरा नजर आया। आरक्षण केंद्र, यात्राी विश्राम कक्ष, तीनों प्लेटपफार्म, टिकटघर आदि सब विरान पड़ा था। यह ट्रेैक ब्लॉक खतौली से लेकर मुजफ्फरनगर व मुजफ्फरनगर से लेकर टपरी के मध्य दोहरीकरण के होने वाले कार्य को लेकर लिया गया। इसी कड़ी में आज नांगल व तलहेड़ी के मध्य ट्रैक ब्लॉक लेकर कार्य किया गया।
इसी के चलते मार्च माह में प्रत्येक मंगलवार को मेगा ट्रैक ब्लॉक लेकर कार्य किया जाएगा। इसी कड़ी में आज मेगा ट्रैक ब्लॉक लेकर कार्य किया गया। जिसके चलते प्रातः 11.30 बजे से लेकर शाम को 6.30 बजे तक ब्लॉक लिया जाना था, लेकिन गाड़ी संख्या 14310 उज्जैनी के जाने के बाद दोपहर 12 बजे से लेकर शाम के सात बजे तक ट्रैक ब्लॉक लिया गया। इस प्रकार से सात घंटे का ब्लॉक लिया गया। जिसके चलते आज आठ ट्रेनें रद्द की गयीं, कई के मार्ग परिवर्तित किये गये तथा कई के मार्ग का संचालन छोटा किया गया। मंगलवार को ट्रैक ब्लॉक के चलते रद्द होने वाली ट्रेनें रही 64562 अंबाला-दिल्ली पैसेंजर, 14521, 14522 दिल्ली-अंबाला एक्सप्रेस-अंबाला-दिल्ली एक्सप्रेस (इंटरसिटी), 64559 दिल्ली-सहारनपुर पैसंेजर, 54472 )षिकेश-दिल्ली पैसेंजर, 54304 कालका, 64561 दिल्ली-अंबाला पैसंेजर व 14511 नौचंदी शामिल रही। 14512 नौचंदी का संचालन मेरठ-मुजफ्फरनगर के मध्य रद्द करते हुए इसका संचालन इलाहाबाद के लिए मेरठ सेे ही किया गया। इसके अलावा ट्रेन संख्या 12055 जनशताब्दी को वाया शामली से संचालित किया गया। ट्रैक ब्लॉक के चलत कुछ ट्रेन शाम के विलंबता से संचालित हुई, जिसमें 19020 देहरादून-बांद्रा अपने तय समय से तीन घंटे की विलंबता से चली। गाड़ी संख्या 18477 उत्कल एक्सप्रेस भी 1.30 घंटे की विलंबता से संचालित हुई। गाड़ी संख्या 14645 शालीमार एक्सप्रेस भी एक घंटा तीस मिनट की देरी से आयी। 19032 योगा एक्सप्रेस भी डेढ़ घंटे की विलंबता से चली। वहीं प्रातः को दूरी से आने वाली ट्रेनों में 14310 उज्जेैनी एक्सप्रेस एक घंटा दस मिनट तथा 54539 निजामुद्दीन पैंसेंजर दो घंटे शामिल रहीं। दोपहर में ट्रैक ब्लॉक के चलते रेलवे कर्मचारी हाथ पर हाथ ध्रे बैठे रहे।

Share it
Top