रोडवेज बसों में नहीं बजेगा कान फोडू संगीत

रोडवेज बसों में नहीं बजेगा कान फोडू संगीत

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसो में सफर करने वाले यात्रियों के राहत की खबर। अब उन्हें शीघ्र की निगम के सार्वजनिक वाहनों में बजने वाले कान फोडू संगीत से पूर्णतया मुक्ति मिल जाएगी। इस संबंध में निगम के मुख्य प्रधान प्रबंधक (संचालन) ने सभी क्षेत्राीय प्रबंधकों/सेवा प्रबंधकों सहित समस्त सहायक क्षेत्राीय प्रबंधकों को निर्देश जारी किये हैं। यह कार्यवाही एक संस्था के सचिव के परिवहन मंत्राी को लिखे गये पत्रा पर की गयी।
अक्सर यह देखा जाता है कि उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों व अनुबंधित बसों में चालकों-परिचालकों के द्वारा एपफएम व अन्य संगीत को जोरशोर से बजाया जाता है। जिसके चलते कुछ यात्रियों को परेशानी का भी सामना करना पड़ता है। कभी-कभी तो यह विवाद का भी कारण बनते देखा गया है। इसी को देखते हुए एक संस्था प्रयास संभव के सचिव की ओर से परिवहन मंत्राी को सार्वजनिक वाहनों में कान फोडू संगीत को प्रतिबंधित करने के संदर्भ में लिखा गया था। जिसमें कहा गया था कि आज के समय में जब हर प्रकार का प्रदूषण अत्यधिक मात्रा में हो रहा है। उस समय में सार्वजनिक वाहनों में कान फोडू संगीत बजना अत्यधिक ध्वनि प्रदूषण पैदा करता है। जो कि यात्रियों को अत्यधिक मानसिक परेशानी भी पैदा करता है। संस्था की ओर से इस कान फोडू संगीत को प्रतिंधित करने की मांग की गयी थी। जिस पर कार्यवाही करते हुए परिवहन मंत्रालय के द्वारा उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम को लिखा गया।
परिवहन मंत्रालय से मिले आदेश पर कार्यवाही करते हुए निगम के मुख्य प्रधान प्रबंधक (संचालन) एचएस गाबा ने सभी क्षेत्राीय प्रबंधकों/सेवा प्रबंधकों सहित समस्त सहायक क्षेत्राीय प्रबंधकों को निर्देश जारी किये। जिसमें कहा गया है कि सार्वजनिक वाहनों में कान पफोडू संगीत बजाने एवं अत्यधिक ध्वनि प्रदूषण को समाप्त कराने के संबंध में दिये गये बिंदुओं पर नियमानुसार कार्यवाही अमल में लायी जाए।
सूत्रों का कहना था कि बसों में बजने वाले संगीत को प्रतिबंधित करने को लेकर पहले भी आदेश आये थे, लेकिन इस पर सुचारू रूप से कार्यवाही नहीं की गयी थी। वहीं आये आदेश को लेकर मुजफ्फरनगर डिपो के सहायक क्षेत्राीय प्रबंधक ब्रह्मप्रकाश अग्रवाल का कहना था कि मुख्य प्रधान प्रबंधक (संचालन) के द्वारा जारी किये गये निर्देश का अक्षरशः पालन कराया जाएगा।

Share it
Top