अब क्राइम मीटिंग की अध्यक्षता डीएम करेंगे

अब क्राइम मीटिंग की अध्यक्षता डीएम करेंगे

मुजफ्फरनगर। प्रदेश सरकार ने आज नया फरमान जारी करते हुए सभी जिलों के एसएसपी के अधिकार कम कर दिये हैं और जिलाधिकारी को ही क्राइम मीटिंग की अध्यक्षता करने का शासनादेश जारी किया है। जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजीव कुमार ने आज एक नया फरमान जारी करते हुए यूपी में आईपीएस अधिकारियों के अधिकारों में कटौती कर दी है। नये आदेश के अनुसार जिलों में एसएसपी के अधिकार कम किये गये हैं और क्राइम मीटिंग की अध्यक्षता जिलाधिकारी को करने का शासनादेश जारी किया है। मुख्य सचिव के अनुसार डीएम अब क्राइम मीटिंग खुद लेंगे और क्राइम मीटिंग में एसएसपी को मौजूद रहना होगा। नये नियम के अनुसार अपराध पर डीएम द्वारा सीधा सवाल पूछा जा सकेगा और थानाध्यक्षों की तैनाती में भी औपचारिकता नहीं चलेगी। अब एसएसपी क्राइम मीटिंग अकेले नहीं करेंगे। इस शासनादेश के बाद यूपी के आईपीएस एसोसिएशन में सन्नाटा छाया हुआ है। इस आदेश के अनुसार अब यह माना जा रहा है कि जिले में पुलिस का कप्तान जिलाधिकारी होगा, जबकि एसएसपी को केवल कानून व्यवस्था पर नियंत्रण करने का काम दिया जायेगा।

Share it
Top