महात्मा ने लगाया मंदिर व मजार खंडित करने का आरोप...जिलाधिकारी से की मामले में हस्तक्षेप की मांग

महात्मा ने लगाया मंदिर व  मजार खंडित करने का आरोप...जिलाधिकारी से की मामले में हस्तक्षेप की मांग

मुजफ्फरनगर। शनिवार को रामपुर तिराहे निवासी एक महात्मा अपने कुछ समर्थकों के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचा। जहां पर उसने जिलाधिकारी से मिलने की कोशिश की, लेकिन उनकी अनुपस्थिति के चलते वह उनसे नहीं मिला सका। जिसके बाद उसने प्रशासन को एक प्रार्थनापत्र दिया। जिसमें उसने एक व्यक्ति पर कुछ लोगों से सांठगांठ करके मंदिर व मजार को खंडित करने का आरोप लगाते हुए इस मामले में कार्यवाही की मांग की है। रामपुर तिराह निवासी महात्मा सुनहरादास अपने समर्थकों सुखविंदर व राहुल कुमार के साथ कलेक्ट्रेट आया। जहां पर उसने जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी को मुलाकात करके एक प्रार्थना देने की कोशिश की, लेकिन उनकी अनुपस्थिति में उनके कार्यालय पर दिया गया। दिये गये प्रार्थना पत्र में महात्मा सुनहरादास ने बताया कि वह सब रामपुर गांव के निवासी हैं। रामपुर में एक मंदिर व मजार हाईवे पर आ गयी थी। जिस पर सरकार द्वारा हमें अपनी जगह मंदिर व मजार का निर्माण कार्य शुरू करा दिया था। उन्होंने आगे बताया कि वहां पर राजेश बंसल नामक व्यक्ति के प्लॉट हैं। राजेश बंसल ने कुछ लोगों व पटवारी को बुलाकर दिखाया तथा उसने रात में कुछ लोगों की मदद से मंदिर व मजार को र्खंडत कर दिया। महात्मा ने प्रशासन से मंदिर व मजार तय स्थान पर ही बनवाने की मांग करते हुए दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की मांग की है।

Share it
Top