शौरो की पूर्व प्रधान, पूर्व ग्राम पंचायत सचिव एवं पूर्व तकनीकी सहायक दोषी...खण्ड विकास अधिकारी शाहपुर को सम्बन्धित के विरूद्ध वसूली करने के आदेश

शौरो की पूर्व प्रधान, पूर्व ग्राम पंचायत सचिव एवं पूर्व तकनीकी सहायक दोषी...खण्ड विकास अधिकारी शाहपुर को सम्बन्धित के विरूद्ध वसूली करने के आदेश

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी ने बताया कि आयुक्त ग्राम्य विकास उप्र लखनऊ के पत्र द्वारा भारत सरकार संदर्भ जो मनीष चौधरी निवासी ग्राम शौरो व धर्मदास पुत्रा रामस्वरूप निवासी ग्राम आदमपुर जनपद मुजफ्फरनगर की शिकायत के क्रम में एनएलएम द्वारा जांचोपरान्त प्रेषित आख्या पर अनुपालन आख्या चाही गयी है।
जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद स्तरीय त्रिस्तरीय समिति गठित कर जांच करायी गयी, जिसमें एनएलएम द्वारा ग्राम शौरो की प्रेषित जांच आख्या में बिन्दु सं. 2, 3 व 6 में जो ग्राम में पॉपुलर वृक्षारोपण व शौचालय निर्माण में अनियमितता पायी गयी। उन्हांेने बताया कि जांच समिति द्वारा आख्या प्रस्तुत की गयी, जिसमें उक्त आरोपों की पुष्टि हुई है। उन्हांेने बताया कि ग्राम शौरो में मनरेगा योजनान्तर्गत कराये गये पॉपुलर वृक्षारोपण कार्य पर त्रिसदस्यीय जांच समिति की आख्या के आधार पर अंकन 167916 का व्ययहरण/दुरूपयोग पाये जाने के फलस्वरूप उक्त धनराशि की वसूली 33.33-33.33 समभाग प्रतिशत में जांचोपरान्त दोषी पाये गये तत्कालीन पूर्व प्रधान श्रीमती महरूनिशा, तत्कालीन ग्राम पंचायत सचिव हनीफ अहमद, जो वर्तमान में सहायक विकास अधिकारी (आईएसबी) के पद पर कार्यरत हैं एवं तत्कालीन तकनीकी सहायक देवी सिंह से वसूली करने एवं इनके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराये जाने तथा स्वच्छ शौचालय निर्माण कार्यक्रम के अन्तर्गत 149 शौचालय निर्माण हेतु मनरेगा अंश एवं पंचायती राज विभाग द्वारा निर्गत की गयी धनराशि के सापेक्ष खण्ड विकास अधिकारी शाहपुर एवं जिला पंचायत राज अधिकारी मु.नगर द्वारा स्थलीय सत्यापन एवं अभिलेखों के आधार पर व्ययहरित/दुरूपयोग की गयी धनराशि का आंकलन व परीक्षण कर नियमानुसार वसूली की कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि खण्ड विकास अधिकारी शाहपुर/कार्यक्रम अधिकारी द्वारा थाना शाहपुर में दोषी पाये गये तीनों के विरूद्ध 05 मई 2017 को एपफआईआर दर्ज करायी गयी थी। उन्हांेने बताया कि स्वच्छ शौचालय निर्माण कार्य पर मनरेगा अंश के रूप में अंकन 13,50,000 की धनराशि का दुरूपयोग होना पाया गया है। उन्हांेने खण्ड विकास अधिकारी शाहपुर/कार्यक्रम अधिकारी को आदेशित किया है कि वे मनरेगा योजनान्तर्गत ग्राम शौरो में पॉपुलर वृक्षारोपण कार्य पर अंकन 1,67,916 एवं स्वच्छ शौचालय निर्माण कार्य पर मनरेगा अंश के रूप में अंकन 13,50,000 कुल अंकन 15,17,916 की धनराशि के व्ययहरण/दुरूपयोग पाये जाने पर इसकी वसूली उपरोक्तानुसार तीनों दोषियों से 33.33-33.33 प्रत्येक से समभाग में नियमानुसार वसूली 15 दिन के भीतर करते हुए वसूल की गयी धनराशि का बैंक ड्राफ्रट राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी जनरेशन स्कीम मुजफ्फरनगर के नाम तैयार कराकर मनरेगा सेल को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करे। यदि 15 दिन के भीतर उक्त धनराशि वसूल नहीं हो पाती है, तो उक्त धनराशि की वसूली हेतु आरसी निर्गत किये जाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।

Share it
Top