शामली जनपद में रहा निर्दलीय प्रत्याशियों की जीत का दबदबा...पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल की पत्नी अंजना बंसल बनीं शामली की चेयरमैन

शामली जनपद में रहा निर्दलीय प्रत्याशियों की जीत का दबदबा...पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल की पत्नी अंजना बंसल बनीं शामली की चेयरमैन

मुजफ्फरनगर। नगर निकाय चुनाव में जनपद शामली में आज घोषित हुए परिणामों के बाद भाजपा को करारा झटका लगा है और सभी निकायों में निर्दलीय प्रत्याशियों ने अपना परचम फहराया। मात्र नगर पंचायत बनत में ही भाजपा समर्थित राजीव चौधरी को जीत नसीब हुई, जबकि शामली नगरपालिका के प्रतिष्ठापूर्ण चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी अंजना बंसल विजयी रही, जबकि भाजपा प्रत्याशी को यहां करारी हार का सामना करना पडा। जनपद शामली की तीन नगरपालिकाओं व शेष नगर पंचायतों की मतगणना आज प्रात: आठ बजे से प्रारम्भ हुई। प्रतिष्ठापूर्ण शामली नगरपालिका के लिये निर्दलीय प्रत्याशी अंजना बंसल ने शानदार जीत हासिल की, यहां पर भाजपा को करारा झटका लगा है। पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल की पत्नी श्रीमती अंजना बंसल निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में विजयी रही। इसी प्रकार कांधला नगरपालिका से बसपा प्रत्याशी हाजी वाजिद विजयी रहे, जबकि कैराना नगर पालिका से निर्दलीय प्रत्याशी हाजी अनवर ने जीत हासिल की, जबकि सपा प्रत्याशी को हार का सामना करना पडा। यहां पर विधायक नाहिद हसन की प्रतिष्ठा भी धूमिल हुई है।
इसी प्रकार थानाभवन नगर पंचायत से निर्दलीय प्रत्याशी रफत परवीन को जीत हासिल हुई। पूर्व चेयरमैन इंतजार अजीज की पत्नी रफत परवीन ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में जीत हासिल की। उन्होंने निर्वतमान चेयरमैन संजय शर्मा की पत्नी अंजलि शर्मा को 3336 मतों से पराजित किया। इसी प्रकार जलालाबाद नगर पंचायत में भी अब्दुल गफ्फार उर्फ पप्पू 749 मतों से विजयी रहे। पूर्व चेयरमैन अशरफ अली खां के समर्थन से पप्पू को जीत हासिल हुई है।
इसके अलावा नगर पंचायत ऐलम से निर्दलीय प्रत्याशी डा. दीपा पंवार विजयी रहीं, जबकि नगर पंचायत झिंझाना से निर्दलीय नौशाद को जीत मिली। नगर पंचायत ऊन से बसपा समर्थित कुलदीप मान विजयी रहे, जबकि नगर पंचायत गढीपुख्ता से निर्दलीय हसन अली ने जीत का परचम लहराया। नगर पंचायत बनत से भाजपा समर्थित राजीव चौधरी को जीत हासिल हुई। इस प्रकार शामली जनपद में प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार सुरेश राणा, कैराना से भाजपा सांसद बाबू हुकुम सिंह व शामली से भाजपा विधायक होने के बावजूद भी जनपद में भाजपा की बुरी तरह दुर्गति हुई। सभी सीटों पर बीजेपी को मुंह की खानी पडी।

Share it
Top