सेना भर्ती पर मंडरा रहा डोपिंग का साया...भर्ती से पूर्व ही स्टेडियम के पास मिले इंजेक्शन, तैयारी को मैदान पर पहुंच रहे युवा

सेना भर्ती पर मंडरा रहा डोपिंग का साया...भर्ती से पूर्व ही स्टेडियम के पास मिले इंजेक्शन, तैयारी को मैदान पर पहुंच रहे युवा

मुजफ्फरनगर। नगर के चौधरी चरण सिंह स्पोर्ट्स स्टेडियम में चार से लेकर 12 दिसंबर तक आयोजित होने वाली सेना की भर्ती पर डोपिंग का साया मंडरा रहा है। भर्ती के लिए अधिक उर्जा को लेकर अभ्यर्थियों के द्वारा ताकतवर दवाइयों के सहारा लेने की संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता है। इसके चलते प्रशासन सहित सेना के अधिकारियों के द्वारा सतर्कता बरतना जरूरी हो गया है। सूत्रों के अनुसार स्टेडियम के पास मिले खाली इंजेक्शन इस ओर इशारा कर रहे हैं।
सेना भर्ती के लिए तैयारी करने के लिए स्टेडियम पहुंच रहे युवाओं ने डोपिंग का सहारा लेना शुरू कर दिया है। ऐसी ही संभावना स्टेडियम के आसपास से मिली इंजेक्शन सीरिंज को देखकर जाहिर की जा रही है। हालांकि अधिकारियों ने इस मामले में अनभिज्ञता जाहिर करने के साथ ही सतर्कता बढ़ाने पर जोर दिया है। सेना भर्ती चार दिसम्बर से शुरू होगी।
शहर के नुमाइश मैदान चार दिसंबर से 12 दिसंबर तक सात जनपदों की सेना भर्ती होगी। इसमें 60 हजार युवा शामिल होंगे। सेना भर्ती शांतिपूर्ण एवं सुव्यवस्थित ढंग से संपन्न कराने को लेकर जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी व एसएसपी अनंत देव तिवारी ने मजबूत तैयारियों पर जोर दिया है। सेना भर्ती कार्यालय मेरठ के अनुसार जारी सूचना में चार दिसम्बर से नगर के स्टेडियम व नुमाईश मैदान पर सात जनपदों सहारनपुर, अमरोहा, बिजनौर, मुरादाबाद, रामपुर, शामली एवं मुजफ्फरनगर के 60 हजार से ज्यादा अभ्यर्थियों ने सेना भर्ती के लिए अपने रजिस्ट्रेशन कराए हैं। प्रतिदिन लगभग पांच हजार की संख्या में अभ्यर्थी सेना भर्ती रैली में भाग लेने मुजफ्फरनगर आएंगे। भर्ती रैली में शामिल होने के लिए इस बार आधार कार्ड अनिवार्य किया गया है। पंजीकरण एवं आधार कार्ड प्राप्त हो जाने की दशा में सेना भर्ती रैली शांतिपूर्ण संपन्न होगी। भर्ती संबंधी प्रक्रिया चौधरी चरण सिंह स्टेडियम, सर्कस ग्राउंड एवं नुमाइश मैदान में संपन्न कराई जाएंगी।
सेना भर्ती के लिए मुजफ्फरनगर के युवा अभी से स्टेडियम व नुमाईश मैदान पर पहुंचकर दौड़ एवं शारीरिक अभ्यास में जुटे हुए हैं। जब से ये युवा यहां पहुंचने लगे हैं, तभी से प्रशासन की हलचल भी बढ़ गयी है। बुधवार को सवेरे स्टेडियम के आसपास इंजेक्शन की खाली सीरिंज कापफी मात्रा में पाये जाने पर सेना भर्ती की तैयारी करने आ रहे युवाओं के डोपिंग से जुड़ने की संभावना प्रबल होने लगी है। इन इंजेक्शन की खाली सीरिंज को एक खिड़की की जाली से लटकाया गया है। जबकि नाली के आसपास भी काफी संख्या में इजेक्शन पड़े हैं। इस संबंध में एडीएम प्रशासन हरीश चन्द्र को कहना है कि उनको इसकी जानकारी नहीं है, लेकिन यदि ऐसा है, तो स्टेडियम के आसपास आ रहे युवाओं की तलाशी करायी जायेगी।

Share it
Top