ककरौली में ग्रामीणों ने विशालकाय अजगर पकडकर वन विभाग को सौंपा

ककरौली में ग्रामीणों ने विशालकाय अजगर पकडकर वन विभाग को सौंपा

भोपा। ग्रामीण युवकों ने विशालकाय अजगर को पकडकर वन विभाग की टीम को सौंप दिया। पिछले कुछ समय में सैंकडों अजगरों व सैंकडों सांपों की जान बचाने वाली दो युवकों की जोडी गांव में चर्चा का विषय बन गयी है। वहीं पर्यावरण प्रेमियों ने प्रशासन से अजगरों की पूर्ण सुरक्षा क्षेत्रा में भारी वाहनों की एन्ट्री पर रोक की मांग की है। मोरना क्षेत्र के ग्रामों में विशालकाय अजगरों का निकलना जारी है। सुस्त व लापरवाह वन विभाग सुविधाओं की कमी का रोना रोकर हाथ पर हाथ धरे बैठा है। सुरक्षा न मिलने के कारण अजगर ग्रामीणों द्वारा मार दिये जा रहे हैं। सोमवार को ग्राम ककरौली में टन्ढेडा मार्ग पर स्थित खेल मैदान में क्रिकेट खेल रहे बच्चों द्वारा अजगर के मैदान में आ जाने की सूचना गांव के अबु तालिब नामक युवक को दी गयी। अबुतालिब व उसके गुरू अबुल हसन ने मौके पर जाकर 38 किलो के अजगर को पकडा। अबुलहसन के अनुसार उसने पिछले कुछ वर्षों में सैंकडों अजगरों सहित अन्य सांपों की जान बचाई है। सांपों को पकडने का तरीका उसने डिस्कवरी चैनल से सीखा है। तब से उसने क्षेत्र में किसी भी सांप को मरने नहीं दिया है। क्षेत्र में कहीं भी सांप निकलने की सूचना पर वह दोनों पहुंच जाते हैं तथा सांप को पकडकर उसे सुरक्षित स्थान पर छोड देते हैं, जिसके लिए वह ख्याति पा रहे हैं। वहीं देरी से पहुंची वन विभाग की टीम के वनरक्षक शबी हैदर व नत्थूसिंह ने अजगर को कब्जे में ले लिय। क्षेत्रा के पर्यावरण प्रेमियों के वन्य प्राणियों की सुरक्षा के लिए सरकार व प्रशासन से ठोस उपाय करने के साथ क्षेत्रा में भारी वाहनों पर पाबन्दी की मांग की है। इस मौके पर अली रजा, अयाज, मौ. कैफ, तुराब, शमीम, आन मौहम्मद, रजा जैदी आदि मौजूद रहे।

Share it
Top