वीरेंद्र मुन्ना को हिरासत में लेने को लेकर हंगामा...रालोद व कांग्रेस नेताओं के आने पर पुलिस आयी बैकफुट पर

वीरेंद्र मुन्ना को हिरासत में लेने को लेकर हंगामा...रालोद व कांग्रेस नेताओं के आने पर पुलिस आयी बैकफुट पर

मुजफ्फरनगर। नगर पालिका परिषद मुजफ्फरनगर के वार्ड दस से निर्दलीय प्रत्याशी श्रीमती संगीता देवी के पति पूर्व सभासद वीरेंद्र मुन्ना को पुलिस द्वारा हिरासत मंे लेने के प्रयास के चलते चुनावी माहौल में प्रातः को गरमाहट पैदा हो गयी। मामले की जानकारी पाकर मौके पर आये कांग्रेेस व रालोद के वरिष्ठ नेताओं के कारण पुलिस को बैक टू पैवेलियन होना पड़ा। जिसके उपरांत माहौल शांत हो गया तथा मतदान शांतिपूर्ण माहौल में संपन्न हुआ।
पालिका के वार्ड दस से निर्दलीय प्रत्याशी श्रीमती संगीता देवी चुनावी मैदान में हैं। उनका मुकाबला भाजपा की प्रत्याशी से था। वार्ड दस का मतदान केंद्र चौ. छोटूराम इंटर व डिग्री कालेज में लगाया गया था। प्रातः को 7.30 बजे मतदान शांतपूर्ण माहौल में प्रारंभ हुआ। प्रातः साढ़े दस बजे के आसपास माहौल में उस समय गर्माहट पैदा हो गयी, जब निर्दलीय प्रत्याशी श्रीमती संगीता देवी के पति वीरेंद्र मुन्ना को पुलिस ने हिरासत में लेने का प्रयास किया। मामले की जानकारी पाकर कांग्रेस के पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक व राष्ट्रीय लोकदल के जिलाध्यक्ष अजित राठी अपने समर्थकों के साथ मौके पर गये। इसके साथ ही मौके पर संगीता देवी के सैंकडों समर्थकों की भारी भीड़ भी वहां पर एकत्रा हो गयी। जानकारी करने पर पुलिस ने बताया कि उन्हें शिकायत मिली थी कि वीेरेंद्र मुन्ना चुनाव को प्रभावित कर रहे हैं। एसएसपी के आदेश पर ही वह यहां पर आये हैं। लिखित में किसी प्रकार का कागजात नहीं दिखाने के चलते पुलिस को बैक टू पैवेलियन होना पड़ा। इस बीच निर्दलीय प्रत्याशी संगीता देवी भी मौके पर आ गयीं तथा विरोध प्रकट करते हुए कहा कि यह विपक्ष की सोची समझी चाल है। वह शांतपूर्ण माहौल को खराब करना चाहते हैं। चुनाव को कोई भी प्रभावित नहीं कर रहा है। पुलिस के जाने के बाद मतदान पहले ही की भांति शांतिपूर्वक चला।

Share it
Top