मुजफ्फरनगर: मतदान के लिये पोलिंग पार्टी हुई रवाना...ड्रोन, पैरामिलिट्री फोर्स के साथ होगी कडी निगरानी, मतदान में बाधा उत्पन्न करने वाले तत्वों के साथ सख्ती से निपटा जायेगा

मुजफ्फरनगर। जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी जीएस प्रियदर्शी ने कहा कि पोलिंग पार्टियां अपने मतदान स्थल पर ही रात्रि विश्राम करें। उन्होंने कहा कि पीठासीन अधिकारियों सहित अन्य सभी मतदान कर्मी निष्पक्ष रहे और पारदर्शी ढंग से मतदान सम्पन्न कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि पोलिंग पार्टियों को यात्रा भत्ता आदि का भुगतान कर दिया गया है। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि मतदान केन्द्रों पर पहुच कर किसी प्रत्याशी अथवा किसी दल का आतिथ्य स्वीकार न करे। जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट अभी से ही भ्रमणशील हो जाये और अपने पोलिंग पार्टी के गन्तव्य पर पहुचने के बाद अपने जोनल मजिस्ट्रेट को इसकी सूचना उपलब्ध कराये कि मतदान केन्द्र पर पोलिंग पार्टियां सकुशल अपने गन्तव्य पर पहुच गयी हैं। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने क्षेत्र में भ्रमणशील रहे और छोटी से छोटी गतिविधि पर भी अपनी नजर रखे। उन्हें आवंटित बूथों के पीठासीन अधिकारियों से समय-समय पर फीड बैक लेते रहे और किसी प्रकार की समस्या आने पर स्वविवेक से निर्णय लेते हुए उसका निस्तारण कराये। समय पर मतदान का प्रारम्भ कराये। उन्होंने समस्त पोलिंग पार्टियों को चुनाव सामग्री सहित पुलिस फोर्स के साथ निर्धरित बस में बैठाकर रवाना किया।
उन्होंने कहा कि निर्भीक रहे और बिना किसी दबाव के अपने कार्य को अंजाम दें। उन्होंने कहा कि ड्रोन के द्वारा भी अति संवेदनशील बूथों पर निगरानी करायी जायेगी।
जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी जीएस प्रियदर्शी एवं एसएसपी अनन्त देव तिवारी आज यहां कूकडा मण्डी स्थित पोलिंग पार्टियों को सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं उनकी टीमों के साथ रवाना कर रहे थे। जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि बस मे पुलिस कर्मी साथ जायेंगे और मतदान सम्पन्न कराने के बाद मत पेटियों को सुरक्षित स्ट्रांग रूम में जमा करा कर ही वापस जायेंगे। उन्होंने कहा कि जो मतदान कर्मी अनुपस्थित हैं, सेक्टर मजिस्ट्रेट उनके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराये। उन्होंने कहा कि जनपद की दो नगर पालिका परिषद एवं 8 नगर पंचायतों को 13 जोन एवं 41 सेक्टर में विभाजित कर शांतिपूर्ण एवं पारदर्शिता के साथ चुनाव सम्पन्न कराने का दायित्व सुपर जोनल, जोनल एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट सथा स्टैटिक मजिस्ट्रेट को दिया गया है। कुल 190 वार्ड बनाये गये है और मतदान केन्द्र की संख्या 156 तथा मतदान स्थलों की कुल संख्या 549 है। जनपद के 457959 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। हर बूथ पर कम से कम 10 पुलिस कर्मी मौजूद रहेंगे। उन्होंने कहा कि हर बूथ पर पर्याप्त फोर्स की उपलब्धता रहेगी। यदि कोई कठिनाई आती है, तो उसे छुपाये नही बल्कि उच्चाधिकारियों की जानकारी में लाये।
जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि शांतिपूर्ण चुनाव में बाध उत्पन्न करने वाले तत्वों से सख्ती से निपटे। सेक्टर मोबाइल, थाना मोबाइल एवं क्यूआरटी और कलस्टर मोबाइल भी भ्रमणशील रहेगे। अपने बूथों के पुलिस इंचार्ज, थानाध्यक्ष का मोबाइल नम्बर एवं क्षेत्रा के मौजिज व्यक्तियों के भी नम्बर अपने पास रखें। उन्होंने कहा कि किसी के दबाव में न आये और निर्भीक होकर चुनाव सम्पन्न कराये।
हर गतिविधि पर नजर रखे। यह भी निगरानी रखी जाये कि कोई किसी को प्रलोभन अथवा डराने धमकाने न पाये। दबंग लोगों के विरूद्ध समय रहते ही निरोधत्मक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिये कि मतदान के दिन अफवाहों को फैलने से सख्ती से रोकें तथा अफवाह फेलाने वालों के विरूद्ध कडी कार्रवाई अमल में लाये। जिला निर्वाचन अधिकारी ने जोर देते हुए कहा कि बूथों के बाहर भीड एकत्रित न होने दें तथा 200 मीटर की परिध में प्रत्याशियों/दलों के बस्ते आदि न लगने दिये जाये।
उन्होंने कहा कि मतदेय स्थल पर आयोग द्वारा निर्धरित 16 फोटो आईडी में कोई एक देख कर ही अन्दर जाने दे। इसके अतिरिक्त मोबाइल पूर्णतया वर्जित रहेगा। कोई भी अपने साथ पान, गुटखा, बीडी अथवा ज्वलनशील पदार्थ आदि लेकर न जाये। उन्होंने कहा कि मतदान के शराब, मदिरा एवं अन्य नशीले पदार्थ की समस्त दुकाने बन्द रहेगी। उन्होंने कहा कि असामाजिक तत्वों पर नजर रखी जायेगी ताकि बदमाश व खुराफाती लोगों पर तत्काल एक्शन लिया जाये। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करें कि मतदाताओं पर कोई भी दबंग व्यक्ति दबाव न डाल सके। यदि दबंग व्यक्ति मतदाता को रोकता है या डराने धमकाने की कोशिश करता है, तो एसे व्यक्ति को पकड कर जेल भेजें। उन्होंने कहा कि भयमुक्त वातावरण तैयार करें।
उन्होंने कहा कि अति संवेदनशील एवं अति संवेदनशील प्लस बूथों की आसमान से ड्रोन के द्वारा निगरानी करायी जायेगी। मतदान के निष्पक्ष व शांतिपूर्ण कराने के उद्देश्य से प्रत्येक मतदान केन्द्र के गेट पर ही मतदाता व पोलिग एजेंट की सघन तलाशी ली जायेगी। मतदाता, प्रत्याशी अथवा मतदान अभिकर्ताओं को मोबाइल रखने की अनुमति नहीं होगी।
केन्द्रीय पैरामिलेट्री फोर्स तथा एवं पीएसी की मौजूदगी भी रहेगी। उन्होंने बताया कि पोलिंग पार्टियों की वापसी में वेटिंग पीरियड वार्डवायज रखा गया है और मास्टर टेनर की मौजूदगी भी सुनिश्चित करायी जायेगी। निर्भिकता, पारदर्शिता के साथ अपना कार्य सम्पन्न करें। पैरामिलेट्री फोर्स एवं पीएसी की भी व्यवस्था की गयी है। फोर्स की कोई कमी नहीं है। सेक्टर मजिस्ट्रेट मतदान समाप्त कराने के बाद मत पेटियों को सील करा कर अपनी देखरेख में स्टांग रूम पहुचवायेंगे। चुनाव आचार संहिता का अनुपालन कराना सुनिश्चित किया जाये। अमिट स्याही का प्रयोग बायी हाथ की तर्जनी पर नाखून से तर्जनी तक किया जाये।
जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की उपस्थिति में ड्रोन उडवाया गया और कैमरें में उसकी तस्वीरे देखी। अति संवेदनशील प्लस एवं संवेदनशील क्षेत्रों में ड्रोन से निगरानी करें कि किसी छत पर ईट या पत्थर जमा न हो। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि यदि आपको मतदान से सामग्री कम है, तो तत्काल अपने सेक्टर मजिस्ट्रेट को बताये। उन्होंने कहा कि मतदान प्रारम्भ कराने से 15 मिनट पहले मतपेटिकाओं को खोल कर मतदान अभिकर्ता को दिखा दे कि यह खाली है और यदि उस समय सेक्टर/जानल अधिकारी मौजूद हैं, तो उन्हें भी बुला ले और हस्ताक्षर करा लें एवं इस प्रक्रिया की फोटीग्राफी/वीडियोग्राफी आवश्यक करा लें। उन्होंने कहा कि मतदान स्थलवार प्रति 2 घण्टे बाद कितने प्रतिशत मतदान हो चुका है कि सूचना प्रेक्षक, जोनल मजिस्ट्रेट एवं निर्वाचन अधिकारी को उपलब्ध कराते रहे। इस अवसर पर प्रेक्षक देवाशीष पांडा, एसएसपी अनन्त देव तिवारी, अपर जिलाधिकारी प्रशासन हरीशचन्द्र, अपर जिलाधिकारी वि/रा सुनील कुमार सिंह सहित निर्वाचन कार्यों से जुड़े अधिकारी मौजूद रहे।

Share it
Top