मुजफ्फरनगर: बाधा उत्पन्न करने वालों से सख्ती से निपटे: पांडा...आदर्श चुनाव आचार संहिता का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए, मतदान केन्द्र के गेट पर की जायेगी सघन चैकिंग

मुजफ्फरनगर: बाधा उत्पन्न करने वालों से सख्ती से निपटे: पांडा...आदर्श चुनाव आचार संहिता का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए, मतदान केन्द्र के गेट पर की जायेगी सघन चैकिंग

मुजफ्फरनगर। प्रेक्षक देवाशीष पांडा ने सेक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेट को निर्देश दिये कि नगरीय निकाय सामान्य निर्वाचन-2017 को सुव्यवस्थित एवं पारदर्शी ढंग से सम्पन्न कराना है। उन्होंने कहा कि हर बूथ पर पर्याप्त फोर्स की उपलब्धता रहेगी। उन्होंने कहा कि यदि कोई कठिनाई आती है, तो उसे छुपाये नहीं बल्कि उच्चाधिकारियों की जानकारी में लाये। उन्होंने कहा कि अपने विवेक एवं निर्णय से समस्या का समाधान करें। सतत् भ्रमणशील रह कर शांतिपूर्ण एवं पारदर्शी ढंग से चुनाव सम्पन्न कराये। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्ण चुनाव में बाधा उत्पन्न करने वाले तत्वों से सख्ती से निपटें। उन्होंने बताया कि सेक्टर मोबाइल, थाना मोबाइल एवं क्यूआरटी और कलस्टर मोबाइल भी भ्रमणशील रहेंगे। उन्होंने बताया कि अपने बूथों के पुलिस इंचार्ज, थानाध्यक्ष का मोबाइल नम्बर एवं क्षेत्र के मौजिज व्यक्तियों के भी नम्बर अपने पास रखें। उन्होंने कहा कि पीठासीन अधिकारियों से सम्पर्क बनाये रखें और उनका मोबाइल नम्बर भी अपने पास रखें। उन्होंने कहा कि किसी के दबाव में न आये और निर्भिक होकर चुनाव सम्पन्न करायें। उन्होंने कहा कि मतदाताओं के साथ शालीनता के साथ पेश आये। उन्होंने बताया कि चुनाव के सम्बन्ध में कंट्रोल रूम को भी सूचित करते रहे। उन्होंने बताया कि स्टैटिक मजिस्ट्रेट, वेब कास्टिंग एवं संवेदनशील बूथों पर वीडियोग्राफी की व्यवस्था करायी गयी है। उन्होंने कहा कि मतदान प्रारम्भ कराने से एक घण्टा पूर्व बूथों पर पहुचें और सुनिश्चित कराये कि सम्पूर्ण व्यवस्था दुरूस्त करा ली गयी है।
प्रेक्षक देशाशीष पांडा, जिला मजिस्ट्रेट/ जिला निर्वाचन अधिकारी जीएस प्रियदर्शी एवं पुलिस अधीक्षक अनन्त देव तिवारी आज यहां जिला पंचायत सभागार में सेक्टर, जोनल एवं सुपर जोनल मजिस्ट्रेट की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पैरामिलेट्री फोर्स एवं पीएसी की भी व्यवस्था की गयी है। फोर्स की कोई कमी नहीं है। उन्होंने निर्देश दिये कि सेक्टर मजिस्ट्रेट मतदान समाप्त कराने के बाद मत पेटियों को सील करा कर अपनी देखरेख में स्टॉग रूम पहुंचवायेंगे। उन्होंने कहा कि चुनाव आचार संहिता का अनुपालन कराना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि मतदान केन्द्र के आसपास 200 मीटर की परिधि में पार्टियों के बस्ते न लगने दिये जाये। अमिट स्याही का प्रयोग बायी हाथ की तर्जनी पर नाखून से तर्जनी तक किया जाये। उन्होंने कहा कि ऐसा वातावरण तैयार करें कि मतदाता निर्भीक होकर अपने मताधिकार का प्रयोग कर सके।
प्रेक्षक देशाशीष पांडा ने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया में बाधा डालने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करें, आदर्श आचार संहिता का कडाई से पालन भी करायें। उन्होंने कहा कि चुनाव मे सैक्टर मजिस्ट्रेट की अहम् भूमिका होती है, अपने जोनल मजिस्ट्रेट से सलाह भी लेते रहें। सैक्टर मजिस्ट्रेट का दायित्व है कि निष्पक्ष होकर स्वतंत्रा रूप से निर्वाचन सम्पन्न करायें। उन्होंने कहा कि मतदान केन्द्रों के निकट ईंट-रोडे व अन्य ज्वलनशील पदार्थ न रखे हों, उनको भ्रमण के दौरान हटवा दें तथा फोटोग्राफी भी करायें। उन्होंने कहा कि मतदान स्थलों की वीडियोग्राफी कराई जायेगी ताकि किसी भी प्रकार की गडबडी करने वाले को चिन्हित कर कार्यवाही की जा सके। यदि किसी प्रकार की लापरवाही किसी घटना का कारण बनती है, तो सम्बंधित के विरूद्व कडी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने निर्देश दिये कि मतदान में किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाए और निष्पक्ष व शांतिपूर्ण मतदान को सम्पन्न कराये जाने के लिए सभी टीम भावना के साथ अपनी जिम्मेदारी निर्वहन करें।
जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि सेक्टर/जोनल मजिस्ट्रेट क्यूआरटी और कलस्टर तथा थाना मोबाइल के नम्बर अपने पास रखे। हर बूथ पर कम से कम 10 पुलिस कर्मी उपलब्ध रहेंगे। उन्होंने कहा कि सेक्टर/जोनल मजिस्ट्रेट मतदाता पर्चियों का वितरण करा लें और बीएलओ को मोबाइल भी अपने पास रखें। उन्होंने कहा कि हर बूथ पर दो मत पेटी होगी, एक अध्यक्ष पद के लिए एवं दूसरी सदस्य के लिए। एहतिहात बरते और पहले अध्यक्ष पद के लिए बैलेट पेपर दें। इसके बाद वोट डालने पर सदस्य पद के लिए।
उन्होंने कहा कि कंट्रोल रूम को समय-समय पर जानकारी देते रहे। उन्होंने बताया कि स्टैटिक मजिस्ट्रेट की भी व्यवस्था की गयी है तथा संवेदनशील बूथ पर वीडियोग्राफी की व्यवस्था करायी गयी है तथा वेबकास्टिंग की भी व्यवस्था की गयी है। सभी मजिस्ट्रेट अधिक से अधिक मूवमेंट करे, बूथ पर भ्रमणशील रहें। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी समय से मतदान केन्द्र पर पहुंचे तथा सक्रिय रहकर काम करें।
जिला निर्वाचन ने सैक्टर मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये कि अपने-अपने क्षेत्रों में बूथों का निरीक्षण कर लें तथा मतदेय स्थलों के निकट सम्भ्रान्त लोगों से सम्पर्क करें। उन्होंने निर्देश दिये कि मतदान के दिन अफवाहों को फैलने से सख्ती से रोकें तथा अफवाह फैलाने वालों के विरूद्ध कडी कार्रवाई करें। जिला निर्वाचन अधिकारी ने जोर देते हुए कहा कि बूथों के बाहर भीड एकत्रित न होनें दें। असामाजिक तत्वों पर नजर रखी जायेगी ताकि अराजक तत्वों पर तत्काल एक्शन लिया जाये। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करें कि मतदाताओं पर कोई भी दबंग व्यक्ति दबाव न डाल सके। यदि दबंग व्यक्ति मतदाता को रोकता है या डराने धमकाने की कोशिश करता है, तो एसे व्यक्ति को पकड कर जेल भेजें। उन्होंने कहा कि भयमुक्त वातावरण तैयार करें तथा मतदाताओं को धमकाने व डराने वालों से सख्ती से पेश आयें।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जोनल/सेक्टर मजिस्ट्रेट के रूप में नियुक्त सभी अधिकारी अपने आवंटित जोन/सेक्टर का नाम व संख्या, तहसील/निकाय का नाम व उसकी स्थिति, जोन/सेक्टर का मुख्यालय व उसकी स्थिति तथा उसके अन्तर्गत आने वाले क्षेत्रों का विवरण तथा जोन/सेक्टर के अन्तर्गत स्थित थाना एवं थानाध्यक्ष का दूरभाष/मोबाइल नम्बर प्राप्त कर ले। इसके पूर्व एसएसपी ने बताया कि अपने बूथों के बारे में पूर्ण आइडिया रखें तथा एससो एवं अन्य अधिकारियों के नम्बर भी रखें। इसके साथ क्यूआरटी, थाना मोबाइल, कलस्टर मोबाइल के भी नम्बर प्राप्त कर लें। बूथ इंजार्च का भी नम्बर रखे । उन्होंने कहा कि किसी भी स्थिति से निपटने के लिए उच्चाधिकारियों के नम्बर रखें। पैरामिलेट्री फोर्स एवं पीएसी तथा भारी मात्रा में पुलिस बल लगाया गया है। हर बूथ पर पुलिस की पैनी नजर रहेगी।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वि/रा सुनील कुमार सिंह, वीसी मुजफ्फरनगर प्राधिकरण, एसपी सिटी, समस्त जोनल/सेक्टर एवं एसडीएम तथा रिटर्निंग अधिकारी मौजूद रहे।

Share it
Top