निकाय चुनाव के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था....पहले चरण का मतदान आज

निकाय चुनाव के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था....पहले चरण का मतदान आज

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिये अग्निचरीक्षा माने जा रहे शहरी निकाय चुनाव के पहले चरण में कल होने वाले मतदान की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।
इस चरण में राज्य के 24 जिलों शामली, मेरठ, हापुड़, बिजनौर, बदायूं, हाथरस, कासगंज, आगरा, कानपुर, जालौन, हमीरपुर, चित्रकूट, कौशाम्बी, प्रतापगढ़, उन्नाव, हरदोई, अमेठी, फैजाबाद, गोंडा, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, गाजीपुर और नक्सलवाद से प्रभावित सोनभद्र जिले में मतदान होगा। कडी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सुबह साढे सात बजे मतदान शुरू होकर शाम पांच बजे तक चलेगा। पहले चरण में सबसे दिलचस्प चुनाव अयोध्या नगर निगम का माना जा रहा है, जहां समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी के रूप में मेयर पद के लिये किन्नर गुलशन बिन्दु चुनाव मैदान में है। किन्नर के चुनाव लडने की वजह से अयोध्या का चुनाव लोगों के आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। अयोध्या में पहली बार मेयर और पार्षदों का
चुनाव होगा, क्योंकि इसे हाल ही में नगर निगम बनाया गया है। राज्य निर्वाचन आयुक्त एस.के. अग्रवाल ने मतदान की तैयारियों को पूरा कर लेने का दावा करते हुए कहा कि जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग कर सुरक्षा इंतजामों की समीक्षा कर ली गई है। तीन चरणों की चुनाव प्रक्रिया में दूसरे और तीसरे चरण का मतदान 26 और 29 नवम्बर को होगा, जबकि एक दिसम्बर को मतगणना की जायेगी। श्री अग्रवाल ने बताया कि पहले चरण का मतदान निर्विघ्न सम्पन्न कराने के लिये सभी जरूरी इंतजाम पूरे कर लिये गये है। मतदान कर्मियों को हर हाल में आज शाम तक मतदान केन्द्रो पर चहुंच जाने को कहा गया है। मतदान केन्द्र आज शाम से ही सुरक्षा बलों के हवाले कर दिये जायेंगे। पहले चरण के मतदान के दौरान कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये केन्द्रीय अर्धसैनिक बलों की 4० कंपनियां स्थानीय पुलिस प्रशासन की मदद में तैनात की जायेंगी। इस चरण में पांच नगर निगम, 71 नगर पालिका और 154 नगर पंचायतों के लिये वोट डाले जायेंगे। पहले चरण में चार हजार 95 वार्डो के लिये सभासद या पार्षद चुने जायेंगे। इस चरण में एक करोड़ नौ लाख वोटर 11 हजार 679 मतदेयस्थलों पर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी सरकार के लिये इस चुनाव को पहली मगर कड़ी परीक्षा के तौर पर देखा जा रहा है। योगी सरकार पिछली 19 मार्च को समाजवादी पार्टी सरकार को बेदखल कर उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ हुयी थी। श्री योगी के शासनकाल में यह पहला चुनाव है,इसलिये इसे उनकी अग्निपरीक्षा के रूप में देखा जा रहा है। भाजपा इस चुनाव को पूरी गंभीरता से ले रही है। प्रत्याशियों के पक्ष में चुनाव प्रचार की कमान खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संभाल रखी है जबकि उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा और प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय के अलावा अन्य वरिष्ठ नेता और मंत्री मतदान को पार्टी के पक्ष में कराने के लिये रात दिन एक किये हुये हैं। दूसरी ओर सपा और बहुजन समाज पार्टी ने चुनाव प्रचार की कमान दूसरी कतार के नेताओं के हवाले कर रखा है। कांग्रेस प्रत्याशियों के लिये वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर जिले जिले घूम कर वोट मांग रहे हैं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा अध्यक्ष मायावती इस चुनाव में प्रचार अभियान से दूर रखा है।

Share it
Top