मुजफ्फरनगर: मंच साझा नहीं करेंगे भाजपा कार्यकर्ता...जनपदीय नेताओं को मिलेगा वीआईपी मंच, उच्चाधिकारियों ने किया रैली स्थल का मुआयना

मुजफ्फरनगर। नगरीय निकाय चुनाव में जनपद के इतिहास में पहली बार अपनी पार्टी के नेताओं की जीत सुनिश्चित करने के लिए प्रचार के लिए आ रहे सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्वागत की ऐतिहासिक तैयारियों में जुटे भाजपाइयों को उनके साथ मंच साझा करने का सौभाग्य नहीं प्राप्त होगा। रैली स्थल पर जिला स्तरीय नेताओं को वीआईपी मंच पर स्थान मिलेगा। वहीं रैली स्थल के पास ही पीडब्ल्यूडी हैलीपेड बनाना प्रारंभ हो गया है।
गुरुवार को नगर विधायक कपिल देव अग्रवाल व भाजपा जिलाध्यक्ष रूपेंद्र सैनी ने पार्टी के अन्य नेताओं के साथ राजकीय इंटर कालेज, मुजफ्फरनगर के मैदान पर पहुंच कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जनसभा की तैयारियों का जायजा लिया। दोनों ने की जा रही सारी व्यवस्थाओं को परखा। मंच से लेकर हैलीपेड तक बेरिकेडिंग व अन्य तैयारियों को पुख्ता करने के निर्देश दिये। इसी बीच यहां पहुंचे जिलाधिकारी गौरी शंकर प्रियदर्शी और एसएसपी अनन्त देव तिवारी भी पूरे अमले के साथ जीआईसी मैदान पर पहुंचे। उन्होंने अधिनस्थों के साथ हैलीपेड के निर्माण का जायजा लिया। यहां अधिकारियों के निर्देशन में पीडब्ल्यूडी के कर्मचारियों ने हैलीपेड का निर्माण करना प्रारम्भ कर दिया है। जिलाधिकारी ने हैलीपेड पर नेताओं की उपस्थिति, यहां से मंच तक जाने की व्यवस्था और अन्य बिन्दुओं पर गंभीरता से विचार-विमर्श करते हुए अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी। हैलीपेड पर सीओ सिटी हरीश सिंह भदौरिया तैनात रहेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में एनएसजी का पूरा दस्ता मौजूद रहेगा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 18 नवम्बर को प्रातःकाल दस बजे राजकीय इंटर कालेज के मैदान पर आ रहे हैं। यहां वह भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों के समर्थन में जनसभा को सम्बोधित करेंगे। इसके लिए जनपद की सभी छह विधानसभा से पार्टी कार्यकर्ता व आम जनमानस उनको सुनने के लिए पहुंचेगा। पार्टी के सभी छह विधायकों को रैली के लिए लक्ष्य निर्धारित कर दिया गया है। वह अपने-अपने क्षेत्रों से भारी भीड़ के साथ यहां पहुंचेंगे। यहां से रैली करने के बाद के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेरठ और फिर गाजियाबाद में भी प्रचार के लिए पहुंचेंगे। पार्टी सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ मुख्य मंच पर सांसद, विधायक और प्रत्याशियों के अलावा कोई अन्य नेता या कार्यकर्ता नहीं रहेगा। जिले के पार्टी नेताओं के लिए मुख्य मंच की बराबर में एक वीआईपी मंच रहेगा। हैलीपेड पर किसी भी नेता को जाने की इजाजत नहीं होगी। हैलीकॉप्टर से उतरकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंच के करीब ही पार्टी के नेताओं से मिलेंगे। जिलाध्यक्ष रूपेंद्र सैनी ने बताया कि 18 नवम्बर को प्रदेशाध्यक्ष डा. महेन्द्र नाथ पाण्डे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ आने की संभावना है, हालांकि उनका अधिकृत प्रोग्राम नहीं आया है। निरीक्षण के दौरान एसपी सिटी ओमवीर सिंह, एसपी यातायात बीवी चौरासिया, सिटी मजिस्ट्रेट वैभव मिश्रा आदि मौजूद रहे।

Share it
Top