बैंक व योगी सरकार पर मानहानि का मुकदमा दर्ज करने की चेतावनी से हडकम्प

बैंक व योगी सरकार पर मानहानि का मुकदमा दर्ज करने की चेतावनी से हडकम्प

मीरापुर। प्रदेश सरकार के फसली ऋण मोचन योजना में गड़बड़ी सामने आने लगी है। ग्राम कुतुबपुर निवासी दो किसानों को ऋण माफी के प्रमाण पत्र मिलने के बाद भी बैंक ने उनका कर्ज माफ नहीं किया है तथा उनके खाते में आये कर्ज मापफी के एक लाख रुपये के निकालने पर भी रोक लगा दी। इस तरह के कई अन्य मामले सामने आने से किसानों में हड़कम्प मचा है। किसानों ने मुख्यमंत्री को पत्र भेज कर शिकायत की है, साथ ही किसान ने बैंक व प्रदेश सरकार पर मानहानि का मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी दी है।
प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसान फसली ऋण मोचन योजना के तहत प्रदेश के उन सभी लघु व सीमान्त कृषकों के एक लाख रुपये तक के कर्ज माफी की घोषणा की थी तथा पूरे प्रदेश में लाखों किसानों के करोड़ो रुपयों का कर्ज मापफ करने का दावा किया था। इसी योजना के तहत पूरे प्रदेश में कार्यक्रम आयोजित कर जिन किसानों के कर्ज माफ किये गये थे, उन्हें सार्वजनिक रूप से कर्ज मापफी का प्रमाण पत्र भी दिया गया था, किन्तु इस योजना में शुरुआत से गडबडी सामने आने लगी थी, किसानों ने कर्ज माफी को मात्र दिखावा बताते हुये आरोप लगाये थे। अब इस तरह का एक मामला मीरापुर के ग्राम कुतुबपुर में सामने आया है। ग्राम कुतुबपुर निवासी किसान आकाशदीप पुत्र धनराज व सन्तोष देवी पत्नी धनराज का भी एक एक लाख रुपये का कर्ज माफ हुआ था तथा जानसठ में पूर्व मन्त्राी संजीव बालियान, विधायक विक्रम सैनी की मौजूदगी में कार्यक्रम के दौरान भाजपा नेताओं और बैंक द्वारा दोनों को कर्ज माफी का प्रमाण पत्रा भी दिया गया था तथा इनके खाते में कर्ज माफी की राशि एक लाख रुपये आ भी गयी थी, किन्तु इसके बाद भी बैंक ने इनके खाते में आयी रकम को निकालने पर रोक लगा दी तथा बुधवार को जब किसान आकाशदीप बैंक में रकम निकालने पहुँचा, तो शाखा प्रबंधक ने कर्ज मापफी नहीं होने की बात कहकर रकम निकलवाने से इंकार कर दिया। आकाश का आरोप है कि उन्हें प्रमाण पत्र देने के बाद भी बैंक कर्ज माफ नहीं कर रहा, जबकि उन्हें तीन हजार लोगों के बीच कर्ज माफी का प्रमाण पत्र दिया गया। किसान का कहना है कि वह स्वयं को अपमानित महसूस कर रहा है तथा मुख्यमन्त्राी को शिकायत भेजने के साथ साथ वह बैंक तथा प्रदेश सरकार पर मानहानि का मुकदमा दर्ज करायेगा।
इस मामले में शाखा प्रबंधक का कहना है कि कुछ खातों के कर्ज माफी के रकम को निकालने पर रोक लगी हुई है, जो कि उच्चाधिकारियों के आदेश पर लगाई गई है। कुछ किसानों के कर्ज माफी में गडबडी की शिकायत पर प्रदेश सरकार की ओर से ही ऐसे किसानों की कर्ज माफी पर रोक लगाये जाने के आदेश मिले है

Share it
Top