एक ने दुलारा, दूसरे ने दुतकारा...बैठक में नाराज कार्यकर्ताओं ने विधायक व जिलाध्यक्ष को सुनाई खरीखोटी

एक ने दुलारा, दूसरे ने दुतकारा...बैठक में नाराज कार्यकर्ताओं ने विधायक व जिलाध्यक्ष को सुनाई खरीखोटी

मुजफ्फरनगर। गांधी कालोनी की लिंक रोड पर स्थित एक फार्म हाउस पर भारतीय जनता पार्टी की एक अति आवश्यक बैठक का आयोजन किया गया। मौका था चयनित प्रत्याशियों की बैठक का। जिसमें होने वाले पालिका चुनाव को लेकर रणनीति पर विचार-विमर्श किया जाना था। बैठक में भाजपा के सभी बड़े नेता आदि उपस्थित रहे। बैठक में टिकट न मिलने से नाराज कुछ कार्यकर्ताओं ने वह हंगामा काटा कि जिलाध्यक्ष, नगर विधायक सहित बड़े नेताओं को खरीखोटी सुननी पड़ी। बैठक के बाद भी खरीखोटी सुनाने का दौर जारी रहा। जिसके चलते नगर विधायक ने झुझलाहट में आकर नाराज कार्यकर्ता को धक्का तक दे दिया, जिसे कार्यकर्ताओं के द्वारा बाद में पफार्म हाउस से बाहर का रास्ता दिखा गया। एक एक नाराज कार्यकर्ता को सांसद के द्वारा समझा बुझाकर शांत किया गया।
गांधी कालोनी की लिंक रोड स्थित एक फार्म हाउस पर भारतीय जनता पार्टी की नगर पालिका के लिए चयनित अध्यक्ष सहित सदस्य पद के प्रत्याशियों व सभी छोटे-बड़े कार्यकर्ताओं की बैठक का आयोजन दोपहर तीन बजे किया गया था। बैठक में चुनाव को लेकर बनाये जाने वाली रणनीति पर विचार-विमर्श चल रहा था, बीच में टिकट न मिलने से नाराज कार्यकर्ता विवेक कुमार अग्रवाल व श्यामलाल के द्वारा जमकर हंगामा किया गया। यहां तक कि एक ने तो अपने सिर पर जूता तक मार लिया। दोनों ने ही जिलाध्यक्ष रूपेंद्र सैनी व नगर विधायक कपिल देव अग्रवाल को जमकर खरीखोटी सुनायी। जिस पर सांसद डा. संजीव कुमार को हस्तक्षेप करना पड़ा। उनके समझाने पर विवेक कुमार अग्रवाल का गुस्सा कम हो गया। अपने टिकट के कटने को लेकर विवेक कुमार अग्रवाल का कहना था कि सूची में उसका नाम था, जो कि बाद में नगर विधायक के कहने पर काटा गया, जिसके चलते वह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में वार्ड 34 से मैदान में आये हैं। उनका आरोप लगाते हुए कहना था कि पार्टी के द्वारा उस व्यक्ति को टिकट दिया गया, जिसने विधानसभा के चुनाव में हंगामा किया था सपा में रहते हुए। वहीं दूसरी ओर टिकट न मिलने से क्रोधित श्यामलाल ने जिलाध्यक्ष रूपेंद्र सैनी, नगर विधायक कपिल देव अग्रवाल को जमकर खरी-खरी बैठक के बीच में तो सुनाई ही, बैठक के समाप्त होने के बाद भी उसने हाई वाल्टेज हंगामा किया। जिसके चलते जिलाध्यक्ष को काफी दूर जाकर खड़ा होना पड़ा। उसने सांसद के साथ भी अभद्र व्यवहार किया। लगातार उसके हंगामे को देखते हुए नगर विधायक कपिल देव अग्रवाल को इतना गुस्सा आया कि उन्होंने श्यामलाल को धक्का तक दे दिया। उसके बाद वहां मौजूद कार्यकर्ताओं ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया। इस बारे में श्यामलाल का आरोप लगाते हुए कहना था उसने वार्ड 11 से टिकट मांगा था, लेकिन जिलाध्यक्ष ने मोटे पैसे लेकर टिकट दूसरे व्यक्ति योगेंद्र गोयल को थमा दिया। जो कि पिछला चुनाव हार गया था। उनका कहना था कि वह इस वार्ड से निर्दलीय प्रत्याशी नवीन मित्तल को चुनाव लड़वा रहे हैं।

Share it
Top