रेल रोकने के मामले में वारंटी पूर्व विधायक ने किया कोर्ट में सरेन्डर

रेल रोकने के मामले में वारंटी पूर्व विधायक ने किया कोर्ट में सरेन्डर

मुजफ्फरनगर। शामली में किसानों की मांगों को लेकर रेल रोककर प्रदर्शन किये जाने के मामले में रालोद के मोदीनगर क्षेत्र से विधायक सुदेश शर्मा ने आज कोर्ट में सरेन्डर कर जमानत करायी। एसीजेएम प्रथम ने जमानती वारंट रद्द कर 20-20 हजार की दो जमानत दाखिल किये जाने के बाद ही जमानत स्वीकार की। इस दौरान कोर्ट में गहमा-गहमी रही और वरिष्ठ रालोद नेता भी मौजूद रहे। जानकारी के अनुसार किसानों की मांगों को लेकर विगत 26 मई 2016 को शामली में राष्ट्रीय लोकदल ने रेल रोककर प्रदर्शन किया था। इस मामले में मोदीनगर के पूर्व विधायक रहे सुदेश शर्मा, रालोद के वरिष्ठ नेता अभिषेक चौधरी, जिलाध्यक्ष अजित राठी, विशाल चौधरी आदि को नामजद किया गया था। रेलवे सुरक्षा बल ने धारा 174 रेलवे एक्ट के तहत शामली में मुकदमा दर्ज कराया था। यह मामला सीजेएम कोर्ट में लम्बित है। आरोपी कोर्ट में पेश न होने पर सभी के विरूद्ध जमानती वारंट जारी हुए थे। आज इस मामले में रालोद के मोदीनगर से पूर्व विधायक सुदेश शर्मा ने कोर्ट में सरेन्डर होकर जमानत करायी। एसीजेएम प्रथम ने जमानती वारंट रद्द कर 20-20 हजार रूपये की दो जमानत दाखिल किये जाने पर जमानत स्वीकार कर ली। ज्ञातव्य है कि राष्ट्रीय लोकदल ने किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर 26 मई 2016 को शामली में ध्रना प्रदर्शन किया था। इसी दौरान रेलवे स्टेशन पहुंचकर रालोद कार्यकर्ताओं ने ट्रेन भी रोक दी थी। ट्रेन रोके जाने से यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ, जिस कारण रेलवे को आर्थिक क्षति उठानी पडी। इसी के चलते रेलवे सुरक्षा बल ने धरा 174 रेलवे एक्ट के तहत शामली में मामला दर्ज कराया था, जिसमें तत्कालीन विधयक सुदेश शर्मा समेत रालोद नेता नामजद थे।

Share it
Top