भाजपा में कई बागी प्रत्याशी मैदान में उतर...अध्यक्ष पद पर सुशीला अग्रवाल व सरिता अरोरा शर्मा के पर्चा भरने से विकट स्थिति बनी

भाजपा में कई बागी प्रत्याशी मैदान में उतर...अध्यक्ष पद पर सुशीला अग्रवाल व सरिता अरोरा शर्मा के पर्चा भरने से विकट स्थिति बनी

मुजफ्फरनगर। भारतीय जनता पार्टी में निकाय चुनाव में टिकट को लेकर चली मारामारी आज नामांकन प्रक्रिया के अन्तिम दिन भी जारी रही। अध्यक्ष पद पर पार्टी की अधिकृत प्रत्याशी सुधाराज शर्मा के सामने पूर्व विधायक सुशीला अग्रवाल व सरिता अरोरा शर्मा द्वारा पार्टी से बगावत कर पर्चा भर दिये जाने से विकट स्थिति बन गई है। रात से लेकर आज दोपहर तक चली मान-मनौव्वल के बावजूद बगावत पर उतरे कार्यकर्ताओं को मनाने के लिये अब प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री व जनपद प्रभारी मंत्री सतीश महाना बुधवार को नगर में पहुंच रहे है। माना जा रहा है कि उनके आने के बाद बागी प्रत्याशी पर्चा वापस लेने के लिये मान सकते हैं। हालांकि अभी तक इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। भारतीय जनता पार्टी में टिकट वितरण में मोटी रकम के लेनदेन के आरोपों के बीच आज बागी प्रत्याशी के रूप में पूर्व विधायक सुशीला अग्रवाल व सरिता अरोरा शर्मा ने कचहरी पहुंचकर सिटी मजिस्ट्रेट वैभव मिश्रा के समक्ष अपने नामांकन पत्रा दाखिल करा लिये। बीती दोपहर को शिवचौक पर सांसद डॉ. संजीव बालियान व विधायक कपिलदेव अग्रवाल समेत पार्टी के दो अन्य वरिष्ठ पदाधिकारियों का संयुक्त रूप से पुतला दहन करने के बाद शिवचौक पर पूरी रात धरना देने वाली भाजपा की वरिष्ठ महिला नेत्रियों व कार्यकत्रियों ने आज भी पूरा दिन अपने उग्र तेवर कायम रखे। सांसद डॉ. संजीव बालियान, विधायक कपिलदेव अग्रवाल, जिलाध्यक्ष रूपेन्द्र सैनी, महामंत्राी हरीश अहलावत, अरविन्दराज शर्मा समेत पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों आन्दोलनरत महिलाओं को समझाने का कापफी प्रयास कर चुके थे, लेकिन सभी महिला नेत्री टिकट बदले जाने की मांग पर अडी रही। मान-मनौव्वल के सभी प्रयास पफेल होने पर भाजपा के जिला स्तरीय पदाधिकारियों ने हाईकमान को पूरे घटनाक्रम से अवगत कराया, जिस पर भाजपा हाईकमान ने पूरे मामले को बेहद गम्भीरता से लेते हुए जनपद प्रभारी मंत्री सतीश महाना को मुजफ्रपफरनगर भेजने का निर्णय लिया है। हालांकि लखनउफ से भी पफोन कर बागी हो रही वरिष्ठ नेत्रियों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है। हाल-पिफलहाल ऐसा लग नहीं रहा है कि निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में पर्चा भरने वाली सुशीला अग्रवाल व सरिता अरोरा शर्मा अपना नामांकन इतनी आसानी से वापस ले लेंगी। आज नामांकन के दौरान महिला मोर्चा की पूर्व जिलाध्यक्ष रेणू गर्ग, श्रीमति सुषमा पुण्डीर, सुनीता शुक्ला, महेशो चौधरी, साधना सिंघल, एकता गुप्ता, सरला धीमान समेत वरिष्ठ नेत्री मौजूद रही, जबकि बगावत को हवा दे रहे भाजपा नेता सामने नहीं आये और अब वे पर्दे के पीछे रहकर ही बगावत का झण्डा महिलाओं के हाथों में सौंप चुके हैं। कुल मिलाकर आज पूरा दिन जिस तरह का घटनाक्रम रहा, उससे एक बात तो तय है कि भाजपा प्रत्याशी सुधाराज शर्मा ने शीघ्र ही रूठी महिला नेत्रियों को मनाकर अपने पाले में न किया, तो चुनाव की रंगत बिगड भी सकती है।

Share it
Top