कांग्रेस प्रत्याशी चारू बंसल ने किया चुनाव लडने से इंकार...पारिवारिक विवाद के चलते लिया गया फैसला

कांग्रेस प्रत्याशी चारू बंसल ने किया चुनाव लडने से इंकार...पारिवारिक विवाद के चलते लिया गया फैसला

मुजफ्फरनगर। कांग्रेस हाईकमान द्वारा बीती रात मुजफ्फरनगर नगरपालिका परिषद से अध्यक्ष पद की प्रत्याशी घोषित की गई बिलकिश चौधरी एडवोकेट का टिकट काटकर आज सुबह पूर्व विधायक स्व. विष्णु स्वरूप की पुत्रवधु श्रीमती चारू स्वरूप बंसल पत्नी अजय स्वरूप बंसल उर्फ अज्जू का नाम घोषित कर दिया था, लेकिन पारिवारिक विवाद के चलते श्रीमती चारू बंसल ने चुनाव लडने से इंकार कर दिया और पार्टी को सिम्बल वापस लौटा दिया। कांग्रेस हाईकमान अब सोमवार को नये प्रत्याशी का नाम घोषित करेगा।

जानकारी के अनुसार कांग्रेस हाईकमान ने आज सुबह मुजफ्फरनगर नगरपालिका परिषद से अध्यक्ष पद के लिए श्रीमती चारू बसंल का नाम घोषित कर दिया था। बीती रात जारी की गई सूची में बिलकिश चौधरी एडवोकेट का नाम आने के बाद आज सुबह कांग्रेस हाईकमान ने मुजफ्फरनगर के कई नेताओ ं के विरोध के चलते बिलकिश चौधरी का टिकट काटकर चारू बंसल को प्रत्याशी घोषित किया और सिम्बल भी उपलब्ध करा दिया, लेकिन इस टिकट को लेकर स्वरूप परिवार में पूरा दिन गहमागहमी बनी रहगी। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा चार दिन पूर्व ही जिलाध्यक्ष घोषित किये गये गौरव स्वरूप ने इस टिकट का विरोध किया। उनका कहना था कि सपा हाईकमान ने उन पर विश्वास जताकर जिलाध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी है और वह पार्टी की अधिकृत प्रत्याशी मिथलेश पाल को ही चुनाव लडवाने को प्रतिबद्ध हैं। वह किसी भी सूरत में परिवार की महिला का नगर निकाय चुनाव में समर्थन नहीं कर पायेंगे। इस बात को लेकर स्वरूप परिवार में आज पूरा दिन ही ऊहापोह की स्थिति बनी रही। देर रात स्वरूप परिवार के सभी जिम्मेदार लोगों की बैठक हुई, जिसमें तय हुआ कि चारू बंसल को चुनाव नहीं लडाया जायेगा। परिवार में सहमति बनने पर आशुतोष स्वरूप बंसल व शंकर स्वरूप बंसल ने पूर्व विधायक सोमांश प्रकाश के आवास पर पहुंचकर उनके समक्ष परिवार में बनी कलह का जिक्र किया और चुनाव लडने में असमर्थता जता दी। सोमांश प्रकाश ने भी स्वरूप परिवार की एकजुटता को बनाये रखने के लिए चारू बंसल का टिकट वापस लेने पर सहमति जता दी। इसके बाद सोमांश प्रकाश ने कांग्रेस हाईकमान को पूरे घटनाक्रम से अवगत कराया और तय हुआ कि सोमवार को कांग्रेस द्वारा किसी नये प्रत्याशी के नाम की घोषणा कर दी जायेगी। इस प्रकार कांग्रेस के टिकट को लेकर एक बार अजीब स्थिति बन गई है। अब देखना है कि सोमवार को कांग्रेस हाईकमान किसको सिम्बल सौंपता है, क्योंकि अब नामांकन करने में काफी कम समय रह गया है और मात्र दो दिन में ही नामांकन दाखिल होने हैं। माना जा रहा है कि सोमवार को जिस किसी का भी टिकट होगा, वह फाईनल टिकट माना जायेगा।

Share it
Top