जलालाबाद में लाखों की डकैती से हड़कम्प, परिजनों में खौफ

जलालाबाद में लाखों की डकैती से हड़कम्प, परिजनों में खौफ

जलालाबाद। कस्बा जलालाबाद के टैण्ट व्यवसाई के आवास पर हथियारों से लैस आधा दर्जन से अधिक बदमाशांे द्वारा पूरे परिवार को गन प्वाइंट पर लेकर बंधक बनाते हुए लाखों की डकैती की घटना को अंजाम देकर पुलिस को खुली चुनौती दे डाली। जनपद के तेज तर्रार पुलिस कप्तान डा. अजयपाल शर्मा ने घटना स्थल का मौका मुआयना कर घटना के शीघ्र खुलासे को एस.ओ.जी समेत कई टीमो को लगाया है। डकैती की घटना से कस्बे मे दहशत का माहौल बना हुआ है।
जलालाबाद के मौहल्ला आर्यनगर निवासी टैंट व्यवासाई रविन्द्र कुमार-महेन्द्र गर्ग के आवास पर शुक्रवार की रात्रि 7-8 हथियारों से लैस बदमाशांे ने छत के रास्ते से घर में प्रवेश करते हुए बारी-बारी से घर के सभी सदस्यों महेन्द्र गर्ग, रविन्द्र गर्ग व उसके परिवार, रमेश गर्ग व उसके परिवार को गन प्वांट पर ले लिया व एक कमरे में ले जाकर बंधक बनाकर सेफ की चाबियां लेकर तसल्ली के साथ सभी कमरों से लाखों की नकदी व बडी कीमत के सोने के आभूषण आदि लूट लिये रात्रि लगभग 2 बजे घर में घुसे बदमाशों द्वारा सुबह चार बजे तक लूट की वारदात को अंजाम दिया। उसके बाद बदमाश पूरे परिवार को एक कमरे में बंद कर बाहर से दरवाजा बंद कर मेन गेट से फरार हो गये। बदमाशों के जाने के बाद पीडित परिवार जैसे-तैसे बंधन मुक्त होकर बंद दरवाजों को तोडकर बाहर निकला एवं शोर मचाया, जिसे सुनकर मौहल्ले के लोग घर से बाहर निकले व 100 नम्बर व जलालाबाद चौकी प्रभारी को घटना की सूचना दी। डकैती की सूचना पर पुलिस के हाथ पैर फूल गये एवं चौकी प्रभारी पवन सैनी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुचे एवं घटना स्थल का मौका मुआयना कर उच्चाधिकारियों को घटना से अवगत कराते हुए वायरलैस पर जनपद के सभी थानों की पुलिस को सूचना देकर बदमाशांे की तलाश शुरू कर दी। सुबह साढे पांच बजे घटना स्थल पर जनपद के तेज तर्रार पुलिस अधीक्षक डा. अजयपाल शर्मा खुद मौके पर पहुंच गये एवं पीडित परिवार से घटना की पूरी जानकारी ली व एस.ओ.जी शामली प्रभारी राजकुमार शर्मा व उनकी टीम को घटना के खुलासे को लगाया। साथ ही डाग स्कवाइड व पिफंगर प्रिंट एक्सपर्ट को मौके पर बुलाया। पुलिस अधीक्षक ने पीडित व्यवसाई को आश्वस्त किया कि शीघ्र ही घटना का खुलासा कर अपराधियांे को गिरफ्तार किया जायेगा। सुबह जैसे ही घटना की जानकारी कस्बावासियों को लगी तो बडी संख्या में लोग व्यवसाई के घर पर इकटठा हो गये। घटना से कस्बे में दहशत का माहौल बना हुआ है। एस.पी देहात, सी.ओ राजेश तिवारी थानाध्यक्ष एम.एस गिल समेत घटना के खुलासे को पुलिस की कई टीमों लगातार लगी है व ताबडतोड दबिश देकर कई संदिग्ध लोगांे को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है घटना में बावरिया गैंग व स्थानीय बदमाशो की संलिप्ता पर पुलिस काम कर रही है व्यवसाई के अनुसार सभी बदमाश 20 से 30 साल की उम्र व मुंह ढके हुए थे। उनका व्यवहार भी पूरी तरह से पेशेवर अपराधियों की तरह ही था, परन्तु उन्होंने परिवार के किसी सदस्य को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया।

Share it
Top