विधायक संगीत सोम कोर्ट में पेश...सडक पर जाम लगाकर प्रदर्शन करने पर दर्ज मामले में कोर्ट ने किया था नोटिस जारी

विधायक संगीत सोम कोर्ट में पेश...सडक पर जाम लगाकर प्रदर्शन करने पर दर्ज मामले में कोर्ट ने किया था नोटिस जारी

मुजफ्फरनगर। सरधना विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक संगीत सोम भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शनिवार को न्यायालय में पेश हुए। उनके विरुद्ध न्यायालय से सड़क पर जाम लगाकर प्रदर्शन करने और निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के मामले में सुनवाई के लिए पेश नहीं होने पर गैर जमानती वारंट जारी किये गये थे। उस दौरान संगीत सोम समाजवादी पार्टी में थे और शहर में बड़ी रैली भी की थी। उनके साथ अन्य लोग भी इस मुकदमे में आरोपी बनाये गये हैं।
भाजपा के वर्तमान में मेरठ जनपद की सरधना विधानसभा सीट से विधायक संगीत सोम के खिलाफ एसीजेएम-द्वितीय के न्यायालय में साल 2009 में सड़क जाम करने और निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के मामले में मुदकमा चल रहा है। उनके साथ कई अन्य लोगों को भी इसमें आरोपी बनाया गया है। 17 फरवरी 2009 को थाना सिविल लाइन क्षेत्र में संगीत सोम ने अपने समर्थकों के साथ सड़क अवरुद्ध कर दी थी। इसके साथ ही उनके विरुद्ध धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने का आरोप भी लगा था। उस समय प्रदेश में बसपा की सरकार थी और संगीत सोम समाजवादी पार्टी में थे। उन्होंने राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में बड़ी रैली की थी। इसके बाद सपा ने उनको लोकसभा चुनाव में अपना प्रत्याशी बनाया था। सूत्रों के अनुसार उनके विरुद्ध थाना सिविल लाइन में मुकदमा दर्ज किया गया था। इसी मुकदमे में न्यायालय एसीजेएम-द्वितीय के समक्ष वो पेश नहीं हुए थे। 31 जुलाई 2017 को न्यायालय ने विधायक संगीत सोम की हाजरी माफी की अर्जी को खारिज कर उपस्थित नहीं होने पर गैर जमानती वारंट जारी कर दिये थे। इस मामले में छह नवंबर को सुनवाई तय है। सुनवाई से पहले ही विधायक संगीत सोम ने गैर जमानती वारंट रिकॉल कराने के लिए अदालत में हाजिरी दी। वो भारी सुरक्षा के बीच अपने अधिवक्ता ठा. कुंवरपाल सिंह के साथ अदालत में पेश हुए। अब सोमवार को अदालत में केस की सुनवाई होगी।
सपा नेता के रूप में सड़क जाम करने और निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने पर उनकी पेशी को लेकर कचहरी में छुट्टी के दिन भी हलचल रही।

Share it
Top