दर्शना शर्मा के नाम से पर्चा खरीदे जाने से मची खलबली...मेरे परिवार द्वारा कोई फार्म नहीं खरीदा गया, यह किसी ने शरारत की है, मैं इसका खण्डन करता हूं: शरद शर्मा

दर्शना शर्मा के नाम से पर्चा खरीदे जाने से मची खलबली...मेरे परिवार द्वारा कोई फार्म नहीं खरीदा गया, यह किसी ने शरारत की है, मैं इसका खण्डन करता हूं: शरद शर्मा

मुजफ्फरनगर। नगर निकाय चुनाव में नामांकन प्रक्रिया प्रारम्भ होने के साथ ही विभिन्न दलों के प्रत्याशियों के नामों को लेकर भी लोगों में उत्सुकता बढती जा रही है। नामांकन प्रक्रिया प्रारम्भ होने के साथ ही पर्चे खरीदने के लिये भी पूरी गहमा-गहमी चल रही है। नामांकन प्रक्रिया के दूसरे दिन मुजफ्फरनगर नगरपालिका के लिये चार पर्चे खरीदे गये, जिसमें एक पर्चा श्रीमति दर्शना शर्मा पत्नी रामप्रसाद शर्मा के नाम से खरीदा गया। भाजपा के जिला महामंत्री शरद शर्मा ने इस बात का खण्डन किया है कि उनकी माताजी श्रीमति दर्शना शर्मा के नाम से उन्होंने पर्चा खरीदा है। किसी शरारती तत्व ने यह गडबड की है। वह पूरी तरह पार्टी के साथ है और जो पार्टी का निर्णय होगा, वह सर्वमान्य होगा।
जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त विद्यालय महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष पं. रामप्रसाद शर्मा की पत्नी श्रीमति दर्शना शर्मा के नाम से आज मुजफ्फरनगर नगरपालिका अध्यक्ष पद हेतु नामांकन पत्र खरीदा गया। इसके अलावा श्रीमति चमन प्रभा, महराब जहां व अनीता देवी ने भी पर्चे खरीदे, लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा दर्शना शर्मा के पर्चे को लेकर ही रही। अभी तक भाजपा ने अध्यक्ष पद हेतु किसी का भी नाम घोषित नहीं किया है, लेकिन भाजपा जिला महामंत्री शरद शर्मा की माताजी श्रीमति दर्शना शर्मा के नाम से पर्चा खरीदे जाने के बाद राजनीतिक हल्को में खलबली मच गई। भाजपा से टिकट के दावेदारों ने अपने आकाओं से फोन कर इस बात की जानकारी मांगी कि दर्शना शर्मा के नाम को हरी झंडी तो नहीं दे दी गई है। हाईकमान से यह स्पष्ट कर दिया गया कि अभी अध्यक्ष पद के लिये किसी के भी नाम को अंतिम रूप नहीं दिया गया है। श्रीमति दर्शना शर्मा के नाम से खरीदे गये पर्चे को लेकर पं. रामप्रसाद शर्मा ने भी कहा है कि उनके परिवार के किसी भी सदस्य ने कचहरी जाकर पर्चा नहीं खरीदा है और यह किसी की शरारत हो सकती है। भाजपा जिला महामंत्री शरद शर्मा ने भी अपनी माताजी श्रीमति दर्शना शर्मा के नाम से पर्चा खरीदे जाने का खण्डन करते हुए कहा कि मेरे परिवार के द्वारा कोई फार्म नहीं खरीदा गया है और यह किसी के द्वारा शरारत की गई है, मैं इसका खण्डन करता हूं।

Share it
Top