बेड़ियों में बांधकर दी जा रही है शिक्षा, तहरीर देने से इंकार

बेड़ियों में बांधकर दी जा रही है शिक्षा, तहरीर देने से इंकार

चरथावल। क्षेत्र के गांव हैबतपुर में स्थित एक मदरसे में पढ़ाई करने वाले मासूम बच्चे को मदरसे में पढ़ाने वाले मौलवी द्वारा बच्चे को बेड़ियों में जकड़कर शिक्षा दी जा रही है, यह मामला आज पूरे क्षेत्र में चर्चाओ में रहा।मिली जानकारी के अनुसार क्षेत्र के गांव निरधन का दस वर्षीय बालक हैबतपुर के मदरसे में शिक्षा ग्रहण करता है। बताते चले कि यह बालक पढ़ाई में कम रुचि लेता है और बालक के परिजन जब उसे पढ़ाई के लिये मदरसे में भेजते है, तो बालक रास्ते में से ही इधर-उधर जाकर खेलने लगता है या पढ़ाई से बचने के लिये इधर-उधर छुप जाता है। आज दोपहर के समय जब यह बालक साहिल मदरसे में मौजूद था और मदरसे के मौलवी ने साहिल को इसकी करतूत को देखते हुई बेड़ियो में कई दिनों से जकड़ रखा था। आज साहिल मौका लगाकर किसी तरह मदरसे से बाहर आकर क्षेत्रवासियों को अपनी आप बीती सुनाई। क्षेत्र के एक जिला पंचायत सदस्य को क्षेत्रवासियों ने इस प्रकरण की सूचना दी और जिला पंचायत सदस्य बेड़ियो में जकड़े बालक साहिल को थाने लेकर आया और मदरसे के मौलवी के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। मामले का मीडिया को पता चलने पर यह प्रकरण ऊपर तक गूंजा और आला अधिकारियों ने मामले में संज्ञान लेते हुई इस प्रकरण में कार्यवाही के आदेश दिए, जब जाकर स्थानीय पुलिस सक्रिय हुई और बालक के परिजनों को बुलाकर मदरसे के मोलवी के खिलाफ तहरीर देने के लिये कहा बालक के परिजनों ने थाने आकर तहरीर देने से इंकार कर दिया।

Share it
Top