मांग पूरी न होने पर होगा चक्का जामः रामजी त्रिपाठी

मांग पूरी न होने पर होगा चक्का जामः रामजी त्रिपाठी

मुजफ्फरनगर। शुक्रवार को यूपी रोडवेज इंप्लाइज यूनियन के तत्वावधन में बस स्टेशन मुजफ्फरनगर में मंडलीय सम्मेलन एवं परिवहन विकास गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें हजारों कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। कार्यक्रम में काफी संख्या में दूसरे दलों के कार्यकर्ताओं ने यूपी रोडवेज इम्प्लाइज यूनियन की सदस्यता ग्रहण की। सम्मेलन की अध्यक्षता पंडित रामजी त्रिपाठी प्रांतीय अध्यक्ष द्वारा की गई एवं संचालन राजकुमार तोमर प्रांतीय संगठन मंत्राी द्वारा किया गया। सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए तेज बहादुर शर्मा महामंत्राी द्वारा पूर्व से प्रेषित 16 सूत्राीय मांग पत्रा को विस्तार से कर्मचारियों को समझाया गया एवं यूनियन द्वारा पूर्व में की गई उपलब्धियो की जानकारी दी गयी। प्रांतीय अध्यक्ष रामजी त्रिपाठी द्वारा सम्मेलन को संबोध्ति किया।
शुक्रवार को यूपी रोडवेज इम्प्लाइज यूनियन के द्वारा सहारनपुर क्षेत्रा की परिवहन विकास गोष्ठी का आयोजन स्थानीय रोडवेज डिपो पर किया गया। कर्मचारियों को सम्बोध्ति करते हुए प्रांतीय अध्यक्ष पंडित रामजी त्रिपाठी ने कहा कि कर्मचारियों की मूलभूत समस्याओं एवं परिवहन निगम के विकास के मुद्दों को लेकर यूपी रोडवेज इम्प्लाइज यूनियन ने इस परिवहन विकास गोष्ठी एवं मंडलीय सम्मेलन का आयोजन किया है। इसमें सहारनपुर, शामली और मुजफ्फरनगर के रोडवेज डिपो से कर्मचारियों ने हिस्सा लिया है। रामजी त्रिपाठी ने कहा कि जब प्रदेश में परिवहन निगम बेहद घाटा में चल रहा था, तो उस समय भी कर्मचारियों को वेतनमान का लाभ दिया जाता रहा है, लेकिन आज प्रदेश में परिवहन निगम की स्थिति लाभकारी होने के बावजूद भी कर्मचारियों को सातवें वेतनमान का लाभ नहीं दिया जा रहा है। इसे कर्मचारियों के हितों पर डाका बताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार रोडवेज कर्मियों को नयेे वेतनमान को अन्य निगमों की भांति देय तिथि से लागू करते हुए एरियर का भुगतान करे। त्रिपाठी ने कहा कि देश के कई अन्य प्रदेशों में शत प्रतिशत मार्ग राष्ट्रीयकृत किया जा चुका है, लेकिन यूपी में आठ प्रतिशत से भी कम मार्ग राष्ट्रीयकृत हैं। यहां मार्गों को शत प्रतिशत राष्ट्रीयकृत करने की मांग वर्षों से चल रही है, सरकार ऐसा करती है तो एक लाख बसें सड़कों पर होंगी और सात लाख कर्मचारी होने से जनता को बेहतर परिवहन सुविध मिलेगी। उन्होंने परिवहन कर्मियों की छवि अच्छी बताते हुए कहा कि सरकार और जनता हमें पसंद करती है। उन्होंने डग्गामारी को निगम के लिए बेहद नुकसानदायक बताते हुए कहा कि इसके बंद करने से आर्थिक स्थिति बेहतर होगी। प्रदेश की योगी सरकार रोडवेज कर्मियों के हितों को लेकर गंभीर नहीं है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि सरकार यूनियन की मांगों को लेकर गंभीर नहीं हुई, तो प्रदेशभर में आंदोलन होगा। इस बार एक दिन की हड़ताल नहीं की जायेगी, बल्कि बेमियादी चक्काजाम कर दिया जायेगा। ये मांग पूरी होने तक जारी रहेगा। उन्होंने कर्मचारियों से एकजुट होकर संगठन को मजबूत करने पर जोर दिया।
इस अवसर पर कुछ कर्मचारियों ने परिषद व संघ को छोड़कर यूनियन की सदस्यता हासिल की। अतिथियों को स्मृति चिन्ह व शॉल ओढाकर सम्मानित किया गया। नये सदस्यों को स्मृति चिन्ह दिये गये। सम्मेलन को जगबीर सिंह यादव प्रांतीय उपाध्यक्ष, शिवम त्रिपाठी प्रांतीय उपाध्यक्ष, ओमबीर सिंह प्रांतीय संयुक्त मंत्राी, प्रांतीय संयुक्त मंत्राी सोहेल अहमद, प्रांतीय संयुक्त मंत्राी प्रमोद श्रीवास्तव व परिवहन की ओर से उपस्थित मनोज कुमार पुंडीर, श्याम बाबू, बीपी अग्रवाल मुजफ्फरनगर द्वारा भी संबोधित किया गया।

Share it
Top