चिकित्सकों पर अवैध् वसूली का आरोप लगाया

चिकित्सकों पर अवैध् वसूली का आरोप लगाया

चरथावल। क्षेत्र में बुखार का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। बुखार से एक दर्जन से भी अधिक मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग इस और कोई भी ध्यान देने को तैयार नहीं है, न ही बुखार पर रोक लगाने के कोई प्रयास स्वास्थ्य विभाग की और से किये जा रहे है। क्षेत्र के सबसे बड़े गांव कुटेसरा में बुखार से 12 वर्षीय नवाजिश पुत्र अनीस की मेरठ में उपचार के दौरान मौत हो गयी। नवाजिश की मौत से जहां परिवार सहित क्षेत्रा में कोहराम मच गया, वहीं इस उम्र में मौत होने से क्षेत्रवासी भी सहमे हुए हैं, वहीं स्वास्थ्य विभाग से बुखार से बचाव के लिये जनता को सही उपचार व इसकी रोकथाम करने के उपाय बताने की मांग कर रहे है। हालात यह है कि झोलाछाप डाक्टरों के यहां बुखार के मरीजों के लिये जगह भी नहीं बची है और झोलाछाप डाक्टरों की पुरी चांदी कट रही है। बुखार का प्रकोप यह है कि घर में कोई न कोई मरीज बुखार से पीड़ित है। बुखार से घर तो कोई नहीं बचा हुआ है। बस घर का एक आध सदस्य बचा हुआ है। बुखार को लेकर क्षेत्रावासी पूरी तरह सहमे हुए है और चरथावल में बुखार का सही उपचार न मिलने के डर से क्षेत्रवासी एकदम जिला मुख्यालय प्राइवेट डाक्टरों के यहां जाने को मजबूर है, जो भोली भाली जनता के साथ खिलवाड़ है और उनका आर्थिक शोषण हो रहा है।

Share it
Top