पचास हजार का ईनामी फुरकान मुठभेड में ढेर...बुढाना पुलिस व क्राईम ब्रांच को मिली सफलता, दरोगा व सिपाही घायल

बुढाना। लगातार पांच दिन में त्यौहारों के कारण सुरक्षा व्यवस्था में लगी पुलिस शांतिपूर्ण तरीके से त्यौहार सम्पन्न होने के बाद फिर से बदमाशों के पीछे लगे गई है। आज देर रात्रि में बुढाना पुलिस व क्राईम ब्रांच की टीम ने मुठभेड के दौरान बायवाला गांव के निकट पचास हजार के ईनामी बदमाश फुरकान को ढेर कर दिया। मुठभेड में गोली लगने से क्राईम ब्रांच के दरोगा आदेश त्यागी व सिपाही हरवेन्द्र सिंह घायल हो गये, जबकि एसआई सोवीर नागर बाल-बाल बच गये। सोवीर नागर को बदमाशों द्वारा मारी गई गोली बुलेटपू्रफ जाकेट के कारण नहीं लग सकी।
जानकारी के अनुसार पुलिस के लिए सिर दर्द बने पचास हजार के ईनामी बदमाश फुरकान पुत्र मीरहसन निवासी तितरवाडा, थाना कैराना की जनपद पुलिस को पिछले काफी दिनों से तलाश थी, वह दर्जनों डकैती की घटनाओं के साथ कई बडी आपराधिक घटनाओं को भी अंजाम दे चुका था। फुरकान व पुलिस के बीच पिछले काफी दिनों से चूहे-बिल्ली का खेल चल रहा था। पुलिस सूत्रों के अनुसार आज देर रात्रि में बुढाना पुलिस गांव बायवाला में चैकिंग अभियान चला रही थी, तभी मुखबिर खास से सूचना मिली की कुछ बदमाश किसी बडी आपराधिक घटना को अंजाम देने के उद्देश्य से जंगल में छिपे हुए हैं। बुढाना कोतवाल चमन सिंह चावडा ने तत्काल इसकी जानकारी उच्चाधिकारियों को दी। एसएसपी अनन्त देव तिवारी ने तत्काल क्राईम ब्रांच की टीम को भी घटनास्थल पर भेजा। बुढाना पुलिस व क्राईम ब्रांच की टीम ने बदमाशों को चारों तरफ से घेर लिया, जिस कारण काफी देर तक मुठभेड चलती रही। बदमाशों द्वारा की जा रही फायरिंग के दौरान क्राईम ब्रांच के एसआई आदेश त्यागी व कांस्टेबिल हरवेन्द्र सिंह को भी गोली लग गई, जबकि बुलेट प्रूफ जाकेट पहने हुए होने के कारण एसआई सोवीर नागर गोली लगने के बावजूद बाल-बाल बच गये। दोनों तरफ काफी देर तक फायरिंग होती रही। बदमाशों की तरफ से जब फायरिंग रूक गई, तो पुलिस ने घटनास्थल की तलाशी ली, जिस पर एक बदमाश गम्भीर रूप से घायल अवस्था में मौके पर पडा था, जबकि उसके साथी वहां से फरार हो चुके थे। पुलिस तत्काल बदमाश को उठाकर बुढाना पीएचसी लेकर आई, जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जानकारी करने पर पता चला कि मृतक बदमाश कैराना कोतवाली क्षेत्र के गांव तितरवाडा निवासी फुरकान है, जिस पर पुलिस ने पचास हजार का ईनाम घोषित कर रखा था। मुठभेड में बुढाना कोतवाली चमन सिंह चावडा, एसआई सोवीर नागर, कांस्टेबिल मोहित कुमार, क्राईम ब्रांच के एसआई आदेश त्यागी, कांस्टेबिल हरवेन्द्र सिंह भी शामिल रहे। मुठभेड की जानकारी मिलते ही एसएसपी अनन्त देव तिवारी भी घटनास्थल पर पहुंचे। बताया जा रहा है कि मुठभेड में मारे गये बदमाश फुरकान पर दर्जनों मुकदमे दर्ज हैं।

Share it
Top