मुजफ्फरनगर व शामली में आरक्षण सूची में परिवर्तन की अधिसूचना जारी...दोनों जिले के राजनीतिक हलकों में मचा हड़कंप,खबर निकली फर्जी

मुजफ्फरनगर व शामली में आरक्षण सूची में परिवर्तन की अधिसूचना जारी...दोनों जिले के राजनीतिक हलकों में मचा हड़कंप,खबर निकली फर्जी

लखनऊ। आज शाम नगर पालिका परिषद् के अध्यक्ष पद के लिए आरक्षण में परिवर्तन की खबर से मुजफ्फरनगर में हडकंप मच गया, क्योंकि खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई कि मुजफ्फरनगर में पालिका अध्यक्ष पद के लिये अब अनुसूचित जाति की महिला चुनाव लड़ेंगी। इस खबर से काफी देर तक शहर में अफरातफरी का माहौल बना रहा। बाद में पता चला कि ये खबर किसी ने फर्जी जारी की थी। आरक्षण सूची में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। सूत्रों के अनुसार आचार संहिता अब 27 या 29 अक्टूबर को जारी हो सकती है। पहले ये 25 को जारी होने की सम्भावना थी।
आज शाम सोशल मीडिया पर नगर विकास अनुभागन की ओर से पत्र संख्या 4651 दिनांक 21 अक्टूबर, 2017 से एक अधिसूचना वायरल की गयी, जिस पर नगर विकास विभाग के प्रमुख सचिव मनोज कुमार सिंह के भी हस्ताक्षर थे। इस अधिसूचना में बताया गया कि नगर पालिका अनुभाग ने आज नयी अधिसूचना जारी की है, जिसमें 30 सीटों के आरक्षण में परिवर्तन कर दिया गया, जिसमें मुजफ्फरनगर और शामली नगर पालिका परिषद् भी शामिल हैं। जो सूची जारी की गयी उसमें मुजफ्फरनगर नगर पालिका परिषद को अनुसूचित महिला हेतु आरक्षित बताया गया है, जबकि शामली नगरपालिका परिषद को अनारक्षित श्रेणी में रखा गया है। मुजफ्फरनगर नगरपालिका परिषद का आरक्षण संशोधित होने से चुनाव लडने की तैयारियों में जुटे लोगों में खलबली मच गयी। नगर विकास विभाग उत्तर प्रदेश शासन के प्रमुख सचिव मनोज कुमार सिंह के हस्ताक्षर से जारी किये गए इस शासनादेश के अनुसार मुजफ्फरनगर नगरपालिका परिषद को सामान्य महिला के स्थान पर अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित कर दिया गया, जबकि शामली नगरपालिका परिषद को महिला के स्थान पर अनारक्षित श्रेणी में रखा गया है। इसके अलावा गाजियाबाद जनपद की खोडा-मकनपुर नगरपालिका परिषद अनुसूचित जाति महिला, नगरपालिका परिषद फतेहपुर अनुसूचित जाति, नगरपालिका परिषद रायबरेली अनुसूचित जाति, नगरपालिका परिषद बदायूं अनुसूचित जाति, नगरपालिका परिषद अहरोरा मिर्जापुर अनुसूचित जाति, नगरपालिका परिषद बीसलपुर पीलीभीत अनुसूचित जाति, नगरपालिका परिषद हल्दौर बिजनौर पिछडा वर्ग, नगरपालिका परिषद शिकारपुर बुलन्दशहर पिछडा वर्ग महिला, नगरपालिका परिषद सोरो कासगंज पिछडा वर्ग, नगरपालिका परिषद टूण्डला फिरोजाबाद पिछडा वर्ग, नगरपालिका परिषद शाहजहांपुर पिछडा वर्ग, नगरपालिका परिषद बिल्हौर कानपुर पिछडा वर्ग, नगरपालिका परिषद मारहरा एटा पिछडा वर्ग, नगरपालिका परिषद नवाबगंज गौण्डा पिछडा वर्ग, नगरपालिका परिषद अफजलगढ बिजनौर पिछडा वर्ग, नगरपालिका परिषद रसडा बलिया पिछडा वर्ग की श्रेणी में संशोधित किया गया है, जबकि नगरपालिका परिषद सरसावा सहारनपुर, नगरपालिका परिषद मुगलसराय चंदौली, नगरपालिका परिषद औरेया, नगरपालिका परिषद झींझक कानपुर देहात, नगरपालिका परिषद अकबरपुर अम्बेडकर, नगरपालिका परिषद आजमगढ, नगरपालिका परिषद गाजीपुर, नगरपालिका परिषद सुल्तानपुर, नगरपालिका परिषद शिकोहाबाद-फिरोजाबाद आदि को अनारक्षित श्रेणी में बताया गया।
मुजफ्फरनगर में इस चर्चा के बाद राजनीतिक खलबली मच गयी, देर रात नगर विकास विभाग के विशेष सचिव एस.के. सिंह ने बताया कि इस तरह की कोई अधिसूचना आज जारी नहीं की गयी है। आरक्षण सूची में शुक्रवार तक आपत्ति ली गयी थी। उन्होंने बताया कि आज सोशल मीडिया पर जारी हुई सूची सही नहीं है।
इसी बीच सूत्रों के मुताबिक पहले अधिसूचना 25 अक्टूबर को जारी होनी थी, लेकिन अब ये 27 या 29 को जारी होने की सम्भावना है। नगर विकास विभाग और स्थानीय निकाय निर्वाचन आयोग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।

Share it
Top