एसडीएम ने सिकरेडा प्रधान पद के चुनाव परिणाम को किया निरस्त, जाति प्रमाण पत्र फर्जी पाये जाने पर हुई कार्यवाही

एसडीएम ने सिकरेडा प्रधान पद के चुनाव परिणाम को किया निरस्त, जाति प्रमाण पत्र फर्जी पाये जाने पर हुई कार्यवाही

मीरापुर। मीरापुर के ग्राम सिकरेडा के प्रधान पद के चुनाव परिणाम को एसडीएम सदर ने वर्तमान प्रधान का जाति प्रमाण पत्र फर्जी साबित होने पर निरस्त कर दिया। चुनाव में पराजित एक अन्य प्रत्याशी ने वर्तमान प्रधान पर फर्जी जाति प्रमाण पत्र तैयार कराकर चुनाव लडने का आरोप लगाते हुए एसडीएम कोर्ट में याचिका दायर की थी।
वर्ष 2015 में हुए ग्राम प्रधान पद के चुनाव में मीरापुर के ग्राम सिकरेडा का प्रधान पद अनुसूचित जाति के लिये आरक्षित था तथा यहां से चुनाव मंे विजय पाकर जयप्रकाश पुत्र रामकिशन प्रधान बना था, किन्तु जयप्रकाश के विरूद्ध चुनाव लडने वाले गांव के ही जोगेन्द्र ने ही जयप्रकाश पर फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाकर चुनाव लडने का आरोप लगाया था। जोगेन्द्र का आरोप था कि जयप्रकाश बंजारा जाति से है, जो कि पिछडी जाति के अन्तर्गत आती है, किन्तु जयप्रकाश ने बादी (अनुसूचित जाति) का फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाकर चुनाव लडा तथा परिणाम घोषित होने के बाद जयप्रकाश ग्राम प्रधान बन गया, जिस पर जोगेन्द्र ने एसडीएम जानसठ के यहां जयप्रकाश का जाति प्रमाण पत्रा फर्जी बताते हुए चुनाव परिणाम निरस्त कराने की याचिका दायर की थी, जो कि एसडीएम सदर के यहां स्थानान्तरित हो गयी थी, जिस पर बुधवार को एसडीएम सदर शीतल प्रसाद गुप्ता ने दोनो पक्षों की सुनवाई के बाद वर्तमान प्रधान जयप्रकाश का जाति प्रमाण पत्र फर्जी पाते हुए ग्राम सिकरेडा के चुनाव परिणाम को निरस्त कर दिया तथा आदेश की कॉपी जनपद स्तरीय स्क्रूटनी समिति को भेज दी।

Share it
Top